CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है

CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है, स्थान, घूमने का सबसे अच्छा समय, कैसे पहुंचे बद्रीनाथ, अन्य महत्वपूर्ण मंदिर तथा दर्शनीय

CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है
श्री बद्री विशाल मंदिर, उत्तराखंड  / फोटो: UHN

उत्तराखंड में बद्रीनाथ मंदिर को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है! भगवान विष्णु को समर्पित यह मंदिर भारत के पवित्र चार धाम मंदिरों में से एक है। प्राचीन हिंदू मंदिर को पवित्र अलकनंदा नदी के स्रोत के रूप में जाना जाता है और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मंदिर में जाने से व्यक्ति के सभी पाप धुल जाते हैं और उन्हें मोक्ष प्राप्त करने में मदद मिलती है।


यह लेख प्रसिद्ध बद्रीनाथ मंदिर के लिए एक संपूर्ण मार्गदर्शिका है जो आपकी यात्रा तथा योजना बनाने में आपकी सहायता करेगी।


बद्रीनाथ: एक परिचय 

बद्रीनाथ मंदिर जिसे "बद्रीनारायण मंदिर" भी कहा जाता है, यह राज्य के चार धामों (चार महत्वपूर्ण तीर्थों) में से एक है। यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ नामक चार तीर्थ-स्थल हैं, जिन्हें सामूहिक रूप से चार धाम के नाम से जाना जाता है। ये तीर्थ केंद्र हर साल बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों को आकर्षित करते हैं, इस प्रकार यह पूरे उत्तरी भारत में धार्मिक यात्रा का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र बन जाता है।



स्थान

उत्तराखंड के हिमालयी गढ़वाल क्षेत्र के बद्रीनाथ शहर में स्थित, मंदिर समुद्र तल से 10200 फीट की ऊंचाई पर है! मंदिर के ठीक सामने भव्य नीलकंठ चोटी है। मंदिर जोशीमठ से लगभग 45 किमी दूर है, जो आधार शिविर भी है।


CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है



घूमने का सबसे अच्छा समय

बद्रीनाथ घूमने के लिए अक्टूबर का महीना सबसे अच्छा माना जाता है। लेकिन पीक सीजन मई से जून है और इस दौरान मंदिर में अत्यधिक भीड़ हो जाती है। 


CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है


खराब मौसम के कारण लोगों को छतरियों और गर्म कपड़ों से लैस होकर जाना पड़ रहा है। ठंडी रातें और बरसात के दिन हो सकते हैं। अगस्त या सितंबर की शुरुआत में यहां हर साल मेले का आयोजन किया जाता है जो काफी प्रसिद्ध है।


कैसे पहुंचे बद्रीनाथ

जाहिर है, बद्रीनाथ उत्तराखंड के चार धाम मंदिरों में से सबसे सुलभ मंदिरों में से एक है। मंदिर तक पहुंचने का सबसे आम तरीका जोशीमठ से एक दिन की यात्रा का आयोजन करना है। बद्रीनाथ में आवास उपलब्ध हैं। निकटतम रेलवे स्टेशन हरिद्वार में है, जो जोशीमठ से लगभग 10 घंटे की दूरी पर है। 


इसलिए सबसे सुविधाजनक काम है हरिद्वार से कार और ड्राइवर बुक करना जो स्टेशन पर आसानी से उपलब्ध हैं।


CHAR DHAM YATRA BADRINATH: सब कुछ जो आपके लिए जानना ज़रूरी है


वापसी यात्रा सहित, कारें प्रतिदिन के आधार पर शुल्क लेंगी। जोशीमठ से बद्रीनाथ की ओर जाने वाली पहाड़ी सड़कें बहुत मुश्किल हैं इसलिए रात में ड्राइविंग की अनुमति नहीं है। 


लोग हरिद्वार और ऋषिकेश से साझा जीप और बसों का विकल्प भी चुन सकते हैं। स्थानीय सरकार द्वारा संचालित बसें हरिद्वार स्टेशन के बाहर से भी उपलब्ध हैं जो सस्ते विकल्प हैं। पीक सीजन के दौरान, यातायात आमतौर पर स्थानीय पुलिस द्वारा नियंत्रित किया जाता है।


अन्य महत्वपूर्ण मंदिर तथा दर्शनीय स्थल 




24  सितंबर को सर्वाधिक पढ़े जाने वाले समाचार

SHAHEED SAMMAN YATRA: अक्टूबर में होगी शहीद सम्मान यात्रा, विधानसभा चुनाव में साबित होगी गेम चेंजर
UTTARAKHAND NEWS DEHRADUN: युवक से 17 लाख ठगने के आरोप में 3 साइबर अपराधी गिरफ्तार
Pune Rape And Murder Case: भाभी से दुष्कर्म करने वाला आरोपी गिरफ्तार, दूसरे आरोपी की तलाश जारी



एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
हम ट्रैफ़िक का विश्लेषण करने, आपकी प्राथमिकताओं को याद रखने और आपके अनुभव को अनुकूलित करने के लिए इस साइट पर कुकीज़ प्रदान करते हैं।
Oops!
ऐसा लगता है कि आपके इंटरनेट कनेक्शन में कुछ गड़बड़ है। कृपया इंटरनेट से कनेक्ट करें और फिर से ब्राउज़ करना शुरू करें।
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.