Header Advertisement

Forest Guard Recruitment: 10 नकलचियों की नहीं हुई पहचान, सात केंद्रों पर दोबारा होगी परीक्षा

 

प्रतीकात्मक
फोटो- प्रतीकात्मक

उत्तराखंड में फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती परीक्षा में नकल के मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद तय किया गया है कि सात केंद्रों पर 14 फरवरी को दोबारा परीक्षा होगी। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग जल्द ही इनके एडमिट कार्ड जारी करेगा। इन केंद्रों पर 2946 उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे।



आयोग ने 16 फरवरी 2020 को फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा आयोजित कराई थी। इस परीक्षा में नकल के मामले सामने आने के बाद एसआईटी ने इसकी जांच की थी। इस जांच प्रकरण के चलते परीक्षा के नतीजे लंबित हैं। इस बीच एसआईटी ने करीब 32 उम्मीदवारों की पहचान कर ली थी। बाकी बचे हुए उम्मीदवारों की भी पहचान की जा रही है। कुल 57 ऐसे उम्मीदवार हैं जो कि नकल में लिप्त पाए गए।



इनमें से 47 की पहचान तो कर ली गई, जिन्हें परीक्षा से डिबार किया जा रहा है। बाकी 10 उम्मीदवारों की पहचान नहीं हो पाई है। लिहाजा, आयोग ने तय किया है कि जिन परीक्षा केंद्रों पर जिस पाली में इन उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी, उन सभी पर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। ऐसे सात केंद्र तय किए गए हैं, जिन पर 2946 उम्मीदवार परीक्षा में बैठेंगे। 


यह भी पढ़ें: Dehradun News : क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में रोजगार मेला आज, सात निजी कंपनियों में नौकरी का मौका


आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने बताया कि इन उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड जल्द ही जारी कर दिए जाएंगे। 14 फरवरी को पहली पाली में पांच और दूसरी पाली में चार केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कराई जाएगी।

इन केंद्रों पर दोबारा होगी परीक्षा

- सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, सेक्टर-2, बीएचईएल, हरिद्वार

- डॉ. हरिराम आर्य इंटर कॉलेज, मायापुर, हरिद्वार

- आनंद माई सेवा सदन म्यूनिसिपल महिला इंटर कॉलेज, हरिद्वार

- ग्रीनवे मॉडर्न स्कूल, आदर्श नगर, रुड़की

- बीएसएम इंटर कॉलेज, ओल्ड रेलवे रोड, रुड़की

- राजकीय इंटर कॉलेज, ओल्ड रेलवे रोड, रुड़की

- आर्य कन्या पाठशाला इंटर कॉलेज, रेलवे रोड, रुड़की


एक कॉल से एक साथ सबको नकल 

एसआईटी की जांच में यह तथ्य भी सामने आया है कि फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में बड़े पैमाने पर नकल कराई गई थी। इसके तहत एक ही जगह से इंटरनेट कॉल के माध्यम से सभी 57 उम्मीदवारों को कनेक्ट किया गया। इसके बाद दूसरी ओर से सवालों के जवाब सीधे तौर पर भेजे गए। एसआईटी ने परीक्षा वाले दिन परीक्षा केंद्रों के आसपास के मोबाइल टावरों की डिटेल के आधार पर इन सभी नकलचियों की पहचान की है।


आयोग जल्द लगाएगा प्रतिबंध 

जिन उम्मीदवारों की नकल करने के मामले में पहचान हो चुकी है, उन पर अधीनस्थ सेवा चयन आयोग जल्द ही प्रतिबंध लगाने जा रहा है। आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने कहा कि लिखित आदेश जारी कर दिया जाएगा। इसके बाद यह उम्मीदवार कभी आयोग की परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे। 

यह भी देखें - 

चमोली के आसन और चंबा के स्वेटर की धूम, ऑनलाइन खूब बिक रहे उत्तराखंड के 50 उत्पाद


Source

Post a Comment

0 Comments