Type Here to Get Search Results !

upstox-refer-earn

उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में सामने आए 5775 नए संक्रमित, 116 मरीजों की हुई मौत

कोरोना वायरस की जांच
कोरोना वायरस की जांच 

 उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित और मरीजों की मौत के मामले थम नहीं रहे हैं। बीते 24 घंटे में 5775 संक्रमित मरीज सामने आए और 116 मरीजों ने दम तोड़ा है। वहीं, 4483 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। कुल संक्रमितों की संख्या 277585 हो गई है। जबकि सक्रिय मामले 79379 पहुंच गए हैं। 



स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शुक्रवार को 23319 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि देहरादून जिले में 1583 कोरोना मरीज मिले हैं। हरिद्वार में 844, ऊधमसिंह नगर 692, नैनीताल में 531, टिहरी में 349, पौड़ी में 359, रुदप्रयाग में 285, अल्मोड़ा में 267, उत्तरकाशी में 286, पिथौरागढ़ में 225, चमोली में 201, चंपावत में 115, बागेश्वर जिले में 38 संक्रमित मिले हैं। 



उत्तराखंड में कोरोना : प्रदेश में नहीं होने देंगे ऑक्सीजन की कमी - पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज


प्रदेश में 24 घंटे में 116 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। इसमें सबसे अधिक सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में 20, बॉम्बे हॉस्पिटल नैनीताल में 14, जेएलएन जिला हॉस्पिटल रुद्रपुर में 13 मरीजों ने दमतोड़ा है। इसके अलावा अन्य मौतें प्रदेश के अलग-अलग सरकारी व निजी अस्पतालों में हुई है। अब तक प्रदेश में 4426 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है।


वहीं, 4483 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर 188690 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कम होने से सक्रिय मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश की रिकवरी दर 67.98 प्रतिशत और सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण दर 6.60 प्रतिशत दर्ज की गई है।

200 बेड का क्वारंटीन सेंटर प्रशासन के हवाले

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने हरिद्वार के प्रेमनगर आश्रम में शुक्रवार को 200 बेड के क्वारंटीन सेंटर का उद्घाटन किया। क्वारंटीन सेंटर के लिए 100 कमरे जिला प्रशासन को हस्तांतरित कर दिए। कोविड मरीजों को क्वारंटीन सेंटर लाने के लिए एक एंबुलेंस सेवा भी रहेगी। सेंटर में मरीजों को निशुल्क भोजन की सुविधा भी मिलेगी।


क्वारंटीन सेंटर के उद्घाटन पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि कोविड-19 महामारी से दुनिया संकट से गुजर रही है। इस संकट में सभी को एक-दूसरे का सहयोग करना है। उन्होंने सभी से मास्क लगाने, शारीरिक दूरी का पालन करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि कोविड से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कराएं। उन्होंने कहा कि प्रेमनगर आश्रम में टीकाकरण सेंटर चलाया जा रहा है। 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोग केंद्रों में पहुंचकर टीका लगाएं और कोविड के खिलाफ लड़ाई में भागीदार बनें।


कैबिनेट मंत्री ने कहा कि संकट की घड़ी में मरीजों के लिए ऑक्सीजन प्राणरक्षक बनी है। बिना वजह घरों में ऑक्सीजन सिलिंडर स्टोर न करें। जिला प्रशासन से नकली दवाओं की बिक्री और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।


जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा ग्रामीण क्षेत्रों में भी क्वारंटीन सेंटर बनाए जा रहे हैं। प्रेमनगर आश्रम में क्वांरटीन सेंटर शुरू होने से हरिद्वार शहर के मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी। 

Source

Top Post Ad

Below Post Ad

नवीनतम खबरों, तथ्यों और विषयों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें