Type Here to Get Search Results !

upstox-refer-earn

उत्तराखंड: पहाड़ों में भी बढ़ी कोरोना संक्रमित मरीजों की मौतें, नौ पर्वतीय जिलों में 13 दिनों के भीतर 301 मरीजों की मौत

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर 

 उत्तराखंड के मैदानी जिलों के साथ ही पहाड़ी जिलों में कोरोना मरीजों की मौतें बढ़ रही हैं। बीते 13 दिनों में नौ पर्वतीय जिलों में 301 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ा है। अब तक पहाड़ों में 613 मरीजों की मौत हुई है। जो प्रदेश में कुल मौतों का 14.4 प्रतिशत है। पौड़ी जिले में सबसे अधिक 200 मरीजों की मौत हुई है।



प्रदेश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला बीते वर्ष 15 मार्च को मिला था। तब से 30 अप्रैल 2021 तक पूरे प्रदेश में 2624 कोरोना मरीजों की मौत हुई। इनमें 312 की मौत नौ पर्वतीय जिलों में हुई थी। कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित मामले तेजी से बढ़ने के साथ ही मौतें भी बढ़ी हैं।



उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में सामने आए 5775 नए संक्रमित, 116 मरीजों की हुई मौत


1 से 13 मई तक प्रदेश में 1621 मौतों में 301 पर्वतीय जनपदों में हुई हैं। अब तक प्रदेश में 4245 कोरोना मरीज दम तोड़ चुके हैं, इनमें से 613 पहाड़ी जिलों के थे। सोशल डवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन के अध्यक्ष अनूप नौटियाल का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर में पर्वतीय जिलों में मौत का ग्राफ बढ़ रहा है। सरकार को पहाड़ों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के साथ ही कोविड जांच और मेडिकल किट देने पर ज्यादा ध्यान देना होगा।

पर्वतीय जिलों में अब तक मौत

जिला         मौत

पौड़ी          200

अल्मोड़ा      89

पिथौरागढ़    80

टिहरी          52

रुद्रप्रयाग      49

उत्तरकाशी   43

बागेश्वर        39

चमोली        34

चंपावत        27

कुल            613


चार मैदानी जिलों में हुई मौत

जिला                 मौत

देहरादून             2316

हरिद्वार               356

नैनीताल              651

ऊधमसिंह नगर   309

कुल               3632

प्लाज्मा दान करने के नाम पर धोखाधड़ी, एक गिरफ्तार

कोरोना संकट और लोगों की मजबूरियों का कुछ लोग फायदा उठाने से नहीं चूक रहे हैं। शुक्रवार को एक अलग ही मामला सामने आया है। आरोपी ने जरूरतमंद को प्लाज्मा उपलब्ध कराने के नाम पर 2500 रुपये ऐंठने की कोशिश की। शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 


चौकी आराघर पर शुक्रवार को कार्तिक पुत्र मुन्ने सिंह निवासी बलवीर रोड डालनवाला ने लिखित तहरीर दी। बताया कि उनकी माता कोरोना पॉजिटिव हैं। जो गंभीर हालात में दून अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं।


डॉक्टरों ने उन्हें प्लाज्मा की आवश्यकता बताई है। प्लाज्मा के लिए उसने कई अस्पतालों में संपर्क किया, लेकिन प्लाज्मा नहीं मिला। इसके बाद अपने फोन नंबर से प्लाज्मा के लिए एक मैसेज बनाकर सोशल मीडिया पर डाला। इसके बाद उनके नंबर पर एक कॉल आई। जिसने खुद का नाम गुरु साजन सिंह बताया। कहा कि वह उसे प्लाज्मा उपलब्ध करा सकता है। इसके लिए उसे गूगल पे पर 2500 रुपये डालने होंगे।


इसके बाद आरोपी के गूगल पे पर 300 रुपये डाल दिए, लेकिन उसने प्लाज्मा उपलब्ध नहीं कराया। इसके बाद से वह उसे लगातार पैसों के लिए कॉल कर रहा है। यहीं नहीं उसने सोशल मीडिया पर बनाए गए मैसेज में उसका नंबर हटाकर अपना नंबर डाल दिया है और सोशल मीडिया में इधर-उधर मैसेज भेज रहा है और लगातार पैसों की मांग कर रहा है। शिकायत के बाद चौकी प्रभारी आराघर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया और आरोपी को तहसील चौक से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी की पहचान गुरु साजन सिंह बख्शी पुत्र हरजीत सिंह बख्शी निवासी मन्नूगंज के रूप में हुई हुई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के साथ ही महामारी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। 


कोरोना संकट में कुछ लोग जरूरतमंदों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। ऐसे गैंग पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। जल्द ही इस प्रकार के लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में ली जाएगी।

-डॉ. योगेद्र सिंह रावत, एसएसपी 

Source

Top Post Ad

Below Post Ad

नवीनतम खबरों, तथ्यों और विषयों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें