उत्तराखंड में कोरोना : तीन दिन बंद रहेंगे सरकारी दफ्तर, अगले आदेश तक नहीं खुलेंगे प्राइवेट स्कूल और उच्च शिक्षण संस्थान

 

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तराखंड राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। गुरुवार को जारी आदेश के अनुसार आगामी तीन दिन राज्य में आवश्यक सेवाओं से संबंधित कार्यालयों को छोड़कर बाकी सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे।



कोरोना के बढ़ते संक्रमण के साथ, जांच के लिए अस्पतालों और लैब में लगीं लंबी लाइनें,

 

जारी शासनादेश के अनुसार 23 से 25 अप्रैल तक सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे और वहां तथा उनके आसपास के क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन करवाया जाएगा। वहीं इस दौरान आवश्यक सेवाओं से संबंधित कार्यालय खुले रहेंगे।


उत्तराखंड में कोरोना : 24 घंटे में मिले 3998 संक्रमित, 19 की मौत, एक्टिव केस 26 हजार पार


प्रदेश के समस्त प्राइवेट स्कूलों और उच्च शिक्षण संस्थानों को बंद रखे जाने का आदेश 


प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य के समस्त प्राइवेट स्कूल एवं उच्च शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक के लिए बंद रहेंगे। गुरुवार को अमर उजाला की खबर शासनादेश में निजी स्कूलों को बंद किए जाने का जिक्र नहीं के प्रकाशित होने के बाद शासन की ओर से संशोधित शासनादेश जारी किया गया है। जिसमें प्राइवेट स्कूलों एवं उच्च शिक्षण संस्थानों को बंद रखे जाने के आदेश दिए गए हैं। 

कोई भी समस्या हो, पुलिस करेगी सहायता

कोरोना की दूसरी लहर में पुलिस एक बार फिर लोगों की सहायता करने को तैयार है। इसके लिए एक बड़ा सहायता केंद्र पुलिस लाइन में शुरू किया गया है। जबकि, हर थाने में सहायता बूथ तैयार किए गए हैं। इन बूथ और केंद्रों के माध्यम से पुलिस लोगों की हर समस्या का समाधान करने का प्रयास करने की बात कह रही है, जिसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। 


एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि वर्तमान समय में लोगों के सामने कई प्रकार की समस्याएं आ रही हैं। चूंकि, कई तरह की पाबंदियां हैं, ऐसे में उन्हें पुलिस व प्रशासन की सहायता की आवश्यकता होती है। इसी बात को मद्देनजर रखते हुए पुलिस लाइन में सहायता केंद्र शुरू किया गया है। इसका प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप बिष्ट को बनाया गया है। साथ ही इसका पर्यवेक्षण सीओ सिटी शेखर सुयाल करेंगे। 


एसएसपी ने बताया कि किसी भी सहायता के लिए डॉयल 112 पर भी फोन किया जा सकता है। लेकिन, इसके अलावा दो अलग से नंबरों को जारी किया गया है। इनमें 0135-2722100 व 7900700100 नंबर शामिल हैं। साथ ही हर थाने में सब इंस्पेक्टर के नेतृत्व में एक कोविड सहायता केंद्र भी बनाए गया है। यहां से जनपद स्तरीय कोविड पुलिस सहायता केन्द्र देहरादून से प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। 


दून पुलिस लोगों की सहायता के लिए 24 घंटे तैयार है। इसके लिए यह सब तैयारियां की गई हैं। लोगों से अपील करता हूं कि वह बेवजह घर से बाहर न निकलें। सरकार की गाइडलाइन का पालन करने के बाद ही इस महामारी से बचा जा सकता है।

- डॉ. योगेंद्र सिंह रावत, एसएसपी


Source