उत्तराखंडः नए मुख्यमंत्री को समय देने के मूड में नहीं कांग्रेस, तीरथ सरकार के खिलाफ आज हल्ला बोल

तीरथ सिंह रावत
तीरथ सिंह रावत

 तीरथ सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है। रविवार को कांग्रेस श्रीनगर में मंडल रैली के तहत महंगाई, बेरोजगारी आदि मुद्दों को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। तीरथ मंत्रिमंडल का पहला फैसला कोविड काल के दौरान दर्ज मुकदमों को वापस लेने का था।



इससे सबसे अधिक लाभ कांग्रेस को हुआ। इतना होने पर भी कांग्रेस तीरथ सरकार को बख्शने के मूड में नहीं है। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि कांग्रेस ने बेरोजगारी, महंगाई, देवस्थानम बोर्ड, किसान समस्या आदि के मुद्दों पर सिलसिलेवार विरोध प्रदर्शन जारी रखने का फैसला किया है।



कांग्रेस के पौड़ी जिले के प्रभारी और प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी के मुताबिक प्रदर्शन की तैयारी के लिए कांग्रेस नेता श्रीनगर में डेरा डाल चुके हैं। टीम के साथ श्रीनगर पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने बताया कि प्रदर्शन में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश सहित अन्य नेता मुख्य रूप से शामिल रहेंगे। इसके बाद कांग्रेस हल्द्वानी, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार और देहरादून में भी प्रदर्शन करेगी। 


भाजपा कार्यालय घेरने जा रहे कांग्रेसियों को रोका


हरिद्वार में जगजीतपुर स्थित भाजपा जिला कार्यालय के घेराव करने जा रहे युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने कॉलोनी के मुख्यद्वार के बाहर ही रोक दिया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच नोकझोंक हुई। विरोध को देखते हुए पुलिस ने कॉलोनी के मुख्य द्वार पर ताला लगा दिया। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ता भी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए। 


देश में बढ़ती महंगाई और प्रदेश सरकार की विफलता को लेकर शनिवार को युवा कांग्रेस ने प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस के हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष नितिन तेश्वर के नेतृत्व में कार्यकर्ता आंबेडकर पार्क से रैली निकालते हुए भाजपा कार्यालय के पास पहुंचे। यहां कॉलोनी के मुख्य द्वार पर पहले से पुलिस बल तैनात था। पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से प्रदर्शन को समाप्त करने की अपील की। कार्यकर्ता नहीं माने और कॉलोनी में घुसने का प्रयास करने लगे। इस बीच पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच बहस हुई। कांग्रेस कार्यकर्ता कॉलोनी के मुख्य द्वार पर ही धरने पर बैठ गए। 


इस मौके पर नितिन तेश्वर ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार का डबल इंजन फेल हो चुका है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के जनविरोधी नीतियों के चलते आज महंगाई चरम पर पहुंच गई। जबकि प्रदेश सरकार भी चार साल तक आम जनता को विकास के नाम पर गुमराह करती रही। उन्होंने कहा यही कारण है कि मुख्यमंत्री बदलने तक की नौबत आ गई।

 

उन्होंने कहा कि सरकार की नाकामी और भ्रष्टाचार के जिम्मेदार शहरी विकास मंत्री को ही अब प्रदेश की कमान सौंप दी गई है। युवा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता वरुण बालियान ने कहा कि महंगाई के चलते आम आदमी को घर चलाना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारी संस्थानों को उद्योगपतियों को बेच रही है। दूसरी ओर पार्टी के आलीशान कार्यालय बनाए जा रहे हैं। 


कांग्रेस अनुसूचित विभाग के जिलाध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार के पांच साल का कामकाज और महंगाई ने भाजपा के लिए दोबारा सत्ता हासिल करने का रास्ता बंद कर दिया है। कनखल ब्लॉक अध्यक्ष शुभम अग्रवाल ने कहा सरकार ने कोरोना की आड़ में कुंभ को समाप्त कर दिया।

 

उन्होंने ने कहा कि लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ सरकार को महंगा पड़ेगा। प्रदर्शन करने वालों में इरफान चेची, तनवीर कुरैशी, लक्की महाजन, निखिल सौदाई, विमला पांडे, मकबूल कुरैशी, राजबीर सिंह चौहान, किरणपाल वाल्मीकि, सुंदर सिंह मनवाल, दिनेश वालिया, नरेश सेमवाल, आकाश भाटी, कैश खुराना, कार्तिक शर्मा, अनिल भाष्कर, संजय शर्मा आदि शामिल रहे।

Source