उत्तराखंडः नई दिल्ली से देहरादून आ रही शताब्दी एक्सप्रेस के कोच में आग लगने से हड़कंप, सभी यात्री सुरक्षित

ट्रेन में लगी आग
ट्रेन में लगी आग

 नई दिल्ली से देहरादून आ रही शताब्दी एक्सप्रेस के कोच में आग लगने से हड़कंप मच गया। लोको पायलट और गार्ड ने सूझबूझ दिखाते हुए ट्रेन को कांसरो रेलवे स्टेशन पर रोक दिया। इसके बाद राजाजी टाइगर रिजर्व और रेलवे के अधिकारियों को किसी तरह सूचना दी गई।





सभी यात्री सुरक्षित, यात्रियों को दूसरो कोचों में शिफ्ट किया


बताया गया कि लोको पायलट ने आग बढ़ने से पहले ही इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन जंगल के बीच में ही रोक दी। तत्काल कोच सी-5 को खाली कराया गया। इसके साथ ही कोच को ट्रेन से अलग कर अन्य कोचों को सुरक्षित बचा लिया गया।





दिल्ली से देहरादून आ रही शताब्दी एक्सप्रेस में लगी भीषण आग, तस्वीरों में देखें मंजर...


इस कोच सी-5 में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं। कोच के सभी यात्रियों को दूसरे कोचों में शिफ्ट कर दिया गया। जिसके बाद ट्रेन देहरादून के लिए रवाना हो गई। वहीं घटना के मद्देनजर देहरादून रेलवे स्टेशन के बाहर एुबंलेस भेज दी गई हैं।


स्वाथ्य कर्मी और पुलिस भी स्टेशन पर तैनात हैं। उधर, घटना की सूचना पर रायवाला रेलवे स्टेशन पर एसडीएम ऋषिकेश अपनी टीम के साथ पहुंच गए।


दोपहर 12:20 बजे के आसपास की बताई जा रही घटना


कोच में 35 लोग सवार थे। घटना शनिवार दोपहर 12:20 बजे के आसपास की बताई जा रही है। वहीं आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है।

बेहद भयानक थी आग, घटना की छानबीन में लगे अधिकारी

राजाजी टाइगर रिजर्व क्षेत्र होने के कारण कांसरो में मोबाइल नेटवर्क सेवा उपलब्ध नहीं है। जिस कारण घटना की जानकारी जुटाने में समय लगा। 


आग लगने से किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। वहीं आग इतनी भयानक थी कि देखते ही देखते पूरा कोच आग की लपटों की चपेट में आ गया। जिस जगह पर यह हादसा हुआ, वहां सिर्फ वन विभाग की चौकी है।


राजाजी और रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे गए हैं। वहीं देहरादून रेलवे स्टेशन के अधीक्षक परिचालन सीताराम शंकर ने बताया कि शताब्दी एक्सप्रेस रायवाला से देहरादून के लिए रवाना हुई थी।


इस बीच कांसरो में जंगल में उसके एक कोच में आग लग गई। जंगल का रास्ता होने की वजह से फायर ब्रिगेड को भेजने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ा। रेल महकमे ने देहरादून से अतिरिक्त पेट्रोलिंग स्टाफ मौके पर भेजा।


यात्री शताब्दी में आग के खौफ से सहमे नजर आए। वहीं कुछ यात्री देहरादून रेलवे स्टेशन पर परिजनों से लिपटकर रोने लगे। जिस कोच में आग लगी थी उसमें देहरादून में तीरंदाजी प्रतियोगिता में भाग लेने आए मध्यप्रदेश के खिलाड़ी का पूरा सामान जल गया। कोच सहित सभी खिलाड़ी एसी कोच में देहरादून आ रहे थे।


घटना की सूचना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। अपनों की कुशलक्षेम जानने के लिए परिजन लगातार फोन करते रहे।

35 सवारियों को उनके सामान सहित सुरक्षित बाहर निकाला

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक 12:50 बजे ऋषिकेश कंट्रोल रूम द्वारा सूचना दी गई कि रेलवे स्टेशन कांसरो के पास शताब्दी एक्सप्रेस आग लग गई है। उक्त सूचना पर थानाध्यक्ष रायवाला अमरजीत सिंह रावत मय फोर्स के पहुंचे।


वहां पहुंचते ही तत्काल प्रभाव से रेलवे कर्मचारियों के साथ मिलकर शताब्दी एक्सप्रेस नंबर 02817 के कोच नंबर सी-5 में बैठी 35 सवारियों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।


सभी यात्रियों को आगे के कोचों में शिफ्ट करवाया गया। वहीं आग लगी हुए कोच को ट्रेन से अलग कर दिया गया। उसके बाद फायर सर्विस टेंडर को रेलवे व अन्य व्यक्तियों की मदद से रेलवे ट्रैक के नजदीक लाया गया और आग को बुझाया गया।


शताब्दी एक्सप्रेस 02017 शनिवार को सुबह दिल्ली से देहरादून के लिए चली थी। जिसमें कुल 12 सवारी कोच थे। जिसमें कुल 316 व्यक्ति सवार थे।

घटना की जानकारी हेतु जारी किए गए नंबर

शताब्दी एक्सप्रेस में आग की घटना की जानकारी हेतु निम्न नंबर जारी किया गया है। 


हरिद्वार : 7217021422, 7217021421


रायवाला: 7217022470


कांसरो: 7217022474


शताब्दी एक्सप्रेस में आग लगने से करना पड़ा बदलाव 


दिल्ली से देहरादून जा रही शताब्दी एक्सप्रेस के कोच संख्या सी-5 में रायवाला व कांसरो के बीच आग लगने के बाद रेलवे ने दो ट्रेनों का समय परिवर्तित किया। दो ट्रेनों रायवाला स्टेशन पर ही रोक दिया गया। कई ट्रेनें प्रभावित भी हुई। शनिवार को दिल्ली से देहरादून जा रही शताब्दी एक्सप्रेस जब रायवाला और कांसरो के बीच पहुंची तो उनके कोच सी-5 में आग लग गई। आग लगने की सूचना पर हरिद्वार रेलवे स्टेशन से भी अधिकारी मौके पर पहुंचे।


प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि आग लगने की घटना के बाद गाड़ी संख्या 04114  देहरादून से सूबेदारगंज जाने वाली ट्रेन को उसके निर्धारित समय 1 बजकर 25 मिनट के बजाय शाम 4 बजकर 25 मिनट पर चलाया गया। जबकि देहरादून से काठगोदाम जाने वाली गाड़ी संख्या 02091 देहरादून- काठगोदाम एक्सप्रेस को उसके निर्धारित समय तीन बजकर 45 मिनट के बजाय चार बजकर 45 मिनट पर चलाया गया।


इसके अलावा सूबेदारगंज से देहरादून जाने वाली गाड़ी संख्या 04113 व गोरखपुर से देहरादून जाने वाली गाड़ी संख्या 05005 को रायवाला पर ही रोक दिया गया। इसके बाद यात्रियों को यहां से बस से देहरादून भेजा गया। उत्तरांचल एक्सप्रेस को ज्वालापुर रेलवे स्टेशन पर, कुंभ स्पेशल ट्रेन 2367 को हरिद्वार में ही रोका गया। वहीं देहरादून से गोरखपुर जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन को डोईवाला में रोका गया। 

Source

Previous Post Next Post