अस्पताल आंदोलन को मिला मातृ शक्ति का समर्थन

रानीखेत अस्पताल में धरने पर बैठी मातृशक्ति
रानीखेत अस्पताल में धरने पर बैठी मातृशक्ति

 रानीखेत (अल्मोड़ा)। उपमंडल क्षेत्र के एकमात्र राजकीय अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर चल रहे धरना प्रदर्शन को अब मातृ शक्ति का भी समर्थन मिलने लगा है। आंदोलन स्थल पर पूर्व प्रमुख रचना रावत सहित तमाम महिलाओं ने आकर समर्थन जताया। महिलाओं ने अस्पताल की अव्यवस्थाओं को दूर करने और विशेषज्ञ डाक्टरों की नियुक्ति करने की मांग प्रमुखता से उठाई।

ब्लाक प्रमुख हीरा रावत के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन के पांचवें दिन वक्ताओं ने कहा कि राजकीय अस्पताल से रानीखेत उपमंडल के अलावा गैरसैंण क्षेत्र से भी रोगी आते हैं। अस्पताल में न तो फिजिशयन हैं और ना ही कोई विशेषज्ञ डाक्टर। इसके कारण रोगियों को परेशानी हो रही है। विधायक करन माहरा ने कहा कि कई बार इस मसले का सदन में उठाया गया, लेकिन उनकी ही विधानसभा क्षेत्र के अस्पताल की जानबूझकर उपेक्षा हो रही है।

ब्लाक प्रमुख हीरा रावत ने सहयोग के लिए सभी का आभार जताया, कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक वह लोग आंदोलन में डटे रहेंगे। पूर्व ब्लाक प्रमुख रचना रावत ने कहा कि एकमात्र अस्पताल में विशेषज्ञ डाक्टरों का अभाव समझ से परे हैं। उन्होंने कहा कि आंदोलन को पूर्ण समर्थन रहेगा। धरने में प्रधान जयपाल फर्त्याल, ज्येष्ठ प्रमुख मोहन सिंह नेेग, संदीप बंसल, कमल तिवारी, राजेंद्र बिष्ट, सभासद बिंदु रौतेला, प्रधान संगठन अध्यक्षा प्रमिला देवी, कामनी पंत, प्रधान चंपा देवी, बीडीसी सदस्य अमित पांडे, माधवी देवी, जीवंती देवी, हीरा देवी, नंदी देवी, दीपा देवी आदि मौजूद थे।