सड़क के लिए ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

Chakkajam फोटो - प्रतीकात्मक
Chakkajam फोटो - प्रतीकात्मक


 प्रतापनगर ब्लॉक की रौणद रमोली पट्टी के पुजारगांव के लिए 18 सालों से स्वीकृत सड़क का निर्माण शुरू न होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने बिजपुर-पनियाला मार्ग पर ल्वार्खा चौराहे पर चक्काजाम कर प्रदर्शन किया। जाम के कारण चार घंटे तक मार्ग के दोनों वाहनों की कतार लग गई। मौके पर एसडीएम भी पहुंचे लेकिन ग्रामीण नहीं माने। विधायक के एक सप्ताह में शासन से वार्ता के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए। ग्रामीणों ने कहा कि यदि एक सप्ताह में सड़क निर्माण शुरू नहीं होता तो 18 जनवरी को मुख्य बाजार लंबगांव चौराहे पर भी चक्काजाम कर बेमियादी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

रविवार सुबह आठ बजे पुजारगांव के ग्रामीणों ने बिजपुर-पनियाला मार्ग के ल्वार्खा चौराहे पर एकत्रित होकर शासन-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर जाम लगाया। कहा कि वर्ष 2003 में स्वीकृत सड़क पर करीब दो दशक बाद भी निर्माण शुरू नहीं किया गया है। सड़क न होने से छात्रों से लेकर बीमार लोगों को अस्पताल तक पहुंचाने में दिक्कतें उठानी पड़ती हैं। धरना स्थल पर पहुंचे एसडीएम रजा अब्बास ने कहा कि ग्रामीणों की मांग जायज है और इसके लिए जिला प्रशासन को पत्र लिखा जाएगा। उन्होंने लोनिवि प्रांतीय खंड से वार्ता का आश्वासन दिया, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। इसके बाद 11.30 बजे क्षेत्रीय विधायक विजय पंवार ने प्रदर्शनकारियों से दूरभाष पर वार्ता की और इसी सप्ताह ग्रामीणों के प्रतिनिधिमंडल को लेकर शासन से वार्ता का आश्वासन दिया, जिसके बाद ग्रामीण माने और जाम खोल गया। ग्रामीणों ने कहा कि इसके बाद भी सड़क निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो वह आंदोलन करेंगे। इस मौके पर क्षेत्र पंचायत सदस्य धीरज नेगी, पूर्व प्रधान सुरेश आर्य, खुशहाल सिंह, हीरामणि उनियाल, गिरीश आर्य, जशोदा देवी, देवेश्वरी देवी, पाली देवी, कुटमा देवी, छुमा देवी, मकानी देवी, सरोज देवी, महेशी देवी, मनोज व्यास, मायाराम नौटियाल, पंकज उनियाल, सूरजमणि नौटियाल, कैलाश नौटियाल और दिनेश उनियाल मौजूद थे।


मूलभूत सुविधाएं न होने पर आंदोलन की तैयारी में दोगी क्षेत्र के लोग

नरेंद्रनगर (टिहरी)। दोगी पट्टी में शिक्षा, स्वास्थ्य, बैंक और नेटवर्क जैसी लंबित समस्याओं का समाधान नहीं होने पर क्षेत्र के लोगों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी। ग्रामीणों का कहना है कि सुविधाओं के अभाव में ग्रामीणों को कठिनाइयों भरा जीवन जीना पड़ रहा है।

दोगी पट्टी के गूलर में आयोजित बैठक में उक्रांद के केंद्रीय सचिव सरदार सिंह पुंडीर ने कहा कि क्षेत्र के लोग स्वास्थ्य, शिक्षा, मोबाइल नेटवर्क, बैंक सुविधाएं देने की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन वर्षों बाद भी समस्याओं का निराकरण नहीं हो पाया है। पूर्व ब्लाक प्रमुख गुणानंद शर्मा ने कहा कि क्षेत्र में स्कूली शिक्षा का बुरा हाल है, जिसका खामियाजा क्षेत्र के युवाओं को भुगतना पड़ रहा है। बैठक में प्रधान सीमा देवी, लिखवार सिंह, मनोज सिंह, धीरेंद्र सिंह, दशरथ सिंह, प्रवीण सिंह, दीपक राणा, जगदीश सिंह, सुरजन सिंह, भगत सिंह कैंतुरा, बलबीर सिंह, मुकेश, सरत सिंह, सुनील सिंह, भारत सिंह, राजेंद्र सिंह और गोविंद सिंह राणा आदि मौजूद थे। संवाद