उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में मिले 3719 नए संक्रमित, 136 की हुई मौत, मृतकों की संख्या पांच हजार पार

कोरोना वायरस की जांच - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
कोरोना वायरस की जांच - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर

 उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी होने लगी है, लेकिन मौत के मामले कम नहीं हो रहे रहे है। 24 घंटे में 136 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई और 3719 संक्रमित मिले हैं। जबकि 3647 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। कुल संक्रमितों की संख्या 291005 हो गई है। प्रदेश में मौत का आंकड़ा पांच हजार पार हो गया है। 



उत्तराखंड में कोरोना: पहाड़ों में बढ़ी संक्रमण दर, मैदानों में घटी, चार पर्वतीय जिलों में 20 फीसदी से ज्यादा



स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को 25944 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि देहरादून जिले में 752 कोरोना मरीज मिले हैं। हरिद्वार में 464, चमोली में 449, ऊधमसिंह नगर में 410, टिहरी में 299, उत्तरकाशी में 229, रुद्रप्रयाग में 226, अल्मोड़ा में 200, पौड़ी में 205, पिथौरागढ़ में 180, चंपावत में 153, नैनीताल में 106, बागेश्वर जिले में 46 संक्रमित मिले हैं। 


उत्तराखंड: प्रदेश के हर विकासखंड में बनेगा कोविड केयर सेंटर, एक कंट्रोल रूम भी बनेगा


प्रदेश में 24 घंटे में 136 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ा है। इसमें सबसे अधिक सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में 18, हिमालयन हॉस्पिटल में 16, बेस अस्पताल भूपतवाला में 16, एम्स ऋषिकेश में 12, श्री महंत इंदिरेश हॉस्पिटल में 11 मरीजों की मौत हो हुई है। इसके अलावा अन्य मौतें प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में हुई है।


अब तक 5034 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, आज 3647 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिलाकर 202177 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 78608 सक्रिय मरीजों का उपचार किया जा रहा है।

प्रदेश में 45 साल से अधिक उम्र के लोगों की वैक्सीन हुई खत्म

प्रदेश में कोविड वैक्सीन की डोज खत्म होने से टीकाकरण अभियान पर ब्रेक लग गया है। केंद्र से वैक्सीन की डोज मिलने का इंतजार हो रहा है। 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को पहली व दूसरी डोज लगाने के लिए वैक्सीन खत्म हो गई है। 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लिए केंद्र से 1.37 लाख वैक्सीन की डोज मिलनी है। 


कोविड वैक्सीन को लेकर सरकार और स्वास्थ्य विभाग की ओर से दावे तो किए जा रहे हैं, लेकिन प्रदेश में वैक्सीन खत्म हो गई है। 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए जिलों के पास टीके नहीं हैं। जिससे अधिकांश केंद्रों पर टीकाकरण का कार्य बंद हो गया है। वहीं, 18 से 44 आयु वर्ग के लिए वैक्सीन की पर्याप्त डोज नहीं है। 


स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 16 मई तक जिलों के पास 71870 वैक्सीन डोज उपलब्ध थी। जो खत्म हो गई है। केंद्र ने 45 से अधिक आयु वर्ग के लिए 1.37 लाख वैक्सीन डोज भेजने की अनुमति दे दी है लेकिन वैक्सीन कब आएगी। इसकी कोई जानकारी नहीं है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इस वर्ग के लोग पहली और दूसरी डोज लगाने के लिए टीकाकरण केंद्रों के चक्कर काट रहे हैं। 


कोविड टीकाकरण अभियान के नोडल अधिकारी डॉ. कुलदीप सिंह मार्तोलिया का कहना है कि 45 से अधिक आयु वर्ग के लिए केंद्र से 1.37 लाख कोविशील्ड वैक्सीन की डोज मिलनी है। इस आयु वर्ग के लिए 24 मई को 50 हजार और 29 मई को 50 हजार कोवैक्सीन मिलने की केंद्र से अनुमति मिली है। वैक्सीन न होने के कारण टीकाकरण कार्य प्रभावित हो रहा है। 

Source

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें