उत्तराखंड में कोरोना: 128 नए संक्रमित मिले, दो की मौत, मरीजों की संख्या एक लाख पार

प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : iStock
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : iStock

 उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण फिर बढ़ रहा है। मंगलवार को 24 घंटे में 128 संक्रमित मिले। वहीं, दो मरीजों की मौत हुई। कुल संक्रमितों की संख्या एक लाख पार हो गई है। वहीं, एक्टिव केस की संख्या भी 1696 हो गई है। 



स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को 8779 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं,  देहरादून जिले में सबसे अधिक 48 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। हरिद्वार में 20, नैनीताल में 12,उधम सिंहनगर में 22,  पौड़ी में नौ, अल्मोड़ा में तीन, बागेश्वर में दो, चमोली में पांच और उत्तरकाशी में सात संक्रमित मरीज मिले। जबकि चंपावत, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग और टिहरी में एक भी संक्रमित नहीं मिला। 


उत्तराखंड: उच्च संक्रमण वाले राज्यों से आने वालों को साथ लानी होगी कोविड निगेटिव रिपोर्ट, सीएम ने दिए निर्देश


आज ऋषिकेश एम्स और रुद्रपुर में दो कोरोना संक्रमितों की मौत के मामले भी सामने आए हैं। बता दें कि प्रदेश में अब तक 1713 संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या कम होने से सक्रिय मरीज बढ़ रहे हैं। कुल मरीजों की संख्या एक लाख 118 हो गई है जिसमें 95212 मरीज ठीक हो चुके हैं। 


बता दें कि प्रदेश में संक्रमितों की ठीक होने की दर 95 प्रतिशत से अधिक है। संक्रमण की दर अन्य कई राज्यों की तुलना में पांच प्रतिशत से कम है लेकिन 3.67 प्रतिशत की है। 


उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में सामने आए इस साल के सबसे अधिक 366 संक्रमित, 1600 पार हुए एक्टिव केस


करीब 15 हजार को लगा टीका

प्रदेश में टीकाकरण अभियान जारी है। मंगलवार को 14942 लोगों को टीका लगाया गया । अब तक प्रदेश में 1.22 लाख लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है। साठ साल से ऊपर के आयु वर्ग में 3.24 लाख लोगों को प्रथम चरण का टीका लगाया जा चुका है। मंगलवार को करीब 415 स्थानों पर टीकाकरण किया गया।

घंटाघर और आशारोड़ी पर मुफ्त कोविड जांच शुरू

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए घंटाघर और आशारोड़ी पर मुफ्त कोविड जांच शुरू कर दी गई है। प्रशासन की ओर से दोनों स्थानों पर रैंडम सैंपलिंग की जा रही है। पहले दिन घंटाघर पर 35 लोगों का आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया।


मंगलवार शाम को एसडीएम सदर गोपाल राम बिनवाल ने आशारोड़ी चेक पोस्ट का निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने हफ्ते में सातों दिन 24 घंटे कोरोना जांच करने के निर्देश दिए हैं, जिसकी व्यवस्था बनाई जा रही है।


उन्होंने बढ़ती गर्मी को देखते हुए शेड और पेयजल की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए। साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को नियमित जांच सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की गंभीरता से कोरोना जांच अनिवार्य रूप से की जाए ताकि बीमारी को फैलने से रोका जा सके। 


एसडीएम ने बताया कि आम लोगों को राहत देने के उद्देश्य से मुफ्त कोविड जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि मामले बढ़ने पर अन्य स्थानों पर भी जांच शुरू की जा सकती है। उन्होंने किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर तुरंत जांच कराने की अपील की।

बाजारों, सार्वजनिक वाहनों में करना होगा कोविड सुरक्षा नियमों का पालन

देहरादून शहर के सभी बाजारों और सार्वजनिक वाहनों में कोविड सुरक्षा नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। संबंधित दुकानदारों और वाहन चालकों को इन नियमों का पालन करवाना होगा। मंगलवार को कोविड प्रसार की रोकथाम के लिए आयोजित बैठक में एसडीएम सदर गोपाल राम बिनवाल ने इसके निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 


एसडीएम बिनवाल ने कहा कि कोरोना के मामलों में एक बार फिर बढ़ोत्तरी हो रही है। बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। इसको देखते हुए सभी आवश्यक सुरक्षा उपाय किए जाने जरूरी हो गए हैं। उन्होंने व्यापारियों को अपनी दुकान के बाहर गोले बनाने और कोविड सुरक्षा के दिशा-निर्देश चस्पा करने के निर्देश दिए।


इसके अलावा उन्हें मास्क व सैनिटाइजर की व्यवस्था भी सुनिश्चित करनी होगी। उन्होंने ऑटो रिक्शा यूनियन और टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों को सार्वजनिक वाहनों में यात्रा करने वालों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वाहनों में भी दूरी के नियमों का पालन होना चाहिए। 


इस मौके पर दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के मनन आनंद, राजीव गांधी कांप्लेक्स व्यापार संघ के केवल कुमार, दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के पंकज मेसोन, विक्रम जन कल्याण सेवा समिति के राजेंद्र कुमार, दलजीत सिंह बिष्ट, करनप्रीत सिंह व सुखमीत सिंह, सिटी बस महासंघ के विजय वर्धन डंडरियाल व हरमीत जयसवाल समेत अन्य संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

83 कोरोना संक्रमित मिलने के बाद भी ताज होटल का यथावत संचालन 

बदरीनाथ राजमार्ग स्थित सिंगटाली के समीप बने ताज होटल पर टिहरी जिला प्रशासन मेहरबान बना हुआ है। होटल में अब तक 83 होटलकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। लेकिन कोविड-19 दृष्टिगत अभी तक यह होटल सील नहीं हुआ है। 


ताज होटल में देश विदेश के पर्यटक पहुंचते हैं। कोविड-19 दृष्टिगत इस होटल में होटलकर्मी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिला प्रशासन को इस संदर्भ में अवगत कराया जा चुका है। इसके बावजूद भी जिम्मेदार अधिकारी इस ओर कार्रवाई करने के बजाय चुप्पी साधे हुए हैं। नतीजन आसपास ग्रामीणों में भी दहशत बनी हुई है।

Source