उत्तराखंड सरकार ने कोविड कर्फ्यू में दी बड़ी राहत, अब हफ्ते में 5 दिन खुलेंगे बाजार, जानें टाइमिंग


 उत्तराखंड सरकार ने कोविड कर्फ्यू में बड़ी राहत देते हुए बाजार सप्ताह में पांच दिन खोलने की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही होटल, रेस्टोरेंट भी 50 प्रतिशत डाइनिंग क्षमता के साथ खोले जा सकेंगे। रविवार को मुख्यमंत्री तीरथ रावत की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य में कोविड कर्फ्यू में ढील देने का फैसला लिया गया। सरकारी प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि कोविड कर्फ्यू को रियायतों के साथ एक सप्ताह और बढ़ाया गया है।

प्रदेश में अब जनरल मर्चेंट, परचून व अन्य दुकानें सप्ताह में सोमवार से लेकर शुक्रवार तक सुबह आठ बजे से लेकर शाम पांच बजे तक खुली रहेंगी। शाम पांच बजे दुकानों को बंद करना होगा। इसके बाद दुकानों पर कोविड कर्फ्यू लागू होगा। अभी तक दुकानों को सप्ताह में तीन दिन ही खोलने की इजाजत थी, लेकिन संक्रमण में आई कमी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया।


सरकार ने अब होटल, रेस्टोरेंट को भी बड़ी राहत दी है। अभी तक रेस्टोरेंट में सिर्फ होम डिलीवरी के लिए कीचन खोलने की अनुमति दी गई थी, लेकिन अब 50 क्षमता के साथ हफ्ते में पांच दिन तक ये भी खुल सकेंगे। जिन होटलों व रेस्टोरेंट में बार हैं, वे भी इस दौरान खुले रहेंगे। शनिवार और रविवार को बाजार सेनेटाइजेशन के लिए बंद रहेंगे।

बॉर्डर पर नेगेटिव एंटीजन रिपोर्ट से भी प्रवेश

सरकार ने संक्रमण कम होने के बाद अब राज्य में प्रवेश के लिए आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के साथ ही रैपिड और एंटीजन टेस्ट को भी मान्य कर दिया है। इससे राज्य में आने वाले लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। अभी तक बार्डर पर प्रवेश से पहले लोगों को 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी पड़ रही थी। इस वजह से कई लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही थी। लेकिन अब 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के साथ ही रैपिड और एंटीजन नेगेटिव रिपोर्ट को भी मान्य किया गया है। राज्य के मैदानी जिलों से पर्वतीय जिलों में जाने के लिए भी लोग आरटीपीसीआर, एंटीजन और रैपिड टेस्ट की 72 घंटे पुरानी रिपोर्ट दिखा सकेंगे।

कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे 

सरकारी प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने बताया कि राज्य में सभी सरकारी, अर्ध सरकारी व निजी कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे। जबकि आवश्यक सेवाओं से संबंधित सभी कार्यालय पूरी क्षमता के साथ खुले रहेंगे। उन्होंने कहा कि सचिवालय प्रशासन विभाग की ओर से जल्द इस संदर्भ में दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे।