फर्जी कोरोना रिपोर्ट मामले में कैबिनेट मंत्री का छापा, आउटसोर्स कर्मचारी हिरासत में

फर्जी कोरोना रिपोर्ट
फर्जी कोरोना रिपोर्ट

 फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट की सूचना पर कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने ढालवाला चेकपोस्ट पर छापेमारी की। इस मामले में पुलिस ने एक आउटसोर्स कर्मचारी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। 


शुक्रवार अपराह्नान तीन बजे कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ढालवाला स्थित स्वास्थ्य विभाग के कैंप में पहुंचे। यहां पर छापामारी की कार्रवाई करते हुए उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और एंटीजन रैपिड टेस्ट की रिपोर्ट का निरीक्षण किया। इस दौरान मौके पर मौजूद हरियाणा के चार युवकों ने मंत्री को बताया कि यहां चेकपोस्ट पर मात्र एक घंटे में ही उन्हें आरटीपीसीआर रिपोर्ट बनाकर सौंप दी है। जिसके बाद कैबिनेट मंत्री का पारा चढ़ गया।



उन्होंने तत्काल इसकी सूचना स्वास्थ्य और पुलिस प्रशासन के आलाधिकारियों को दी और जांच के निर्देश दिए। जिसके बाद आनन-फानन में  मौके से पुलिस ने एक आउटसोर्स कर्मचारी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। इस दौरान पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी, मंडी समिति अध्यक्ष विनोद कुकरेती, मुनिकीरेती थाना निरीक्षक कमल मोहन भंडारी, वरिष्ठ उपनिरीक्षक सदानंद पोखरियाल, चौकी प्रभारी आशीष कुमार मौजूद थे। 


मंत्री ने कहा कि फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट बनाने वालों की शिकायत मिल रही थी। जोकि गंभीर मामला है। जिसके बाद शुक्रवार को ढालवाला चेकपोस्ट पर छापेमारी की कार्रवाई गई। जहां पर फर्जीवाड़ा की शिकायत है। मामले की निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए गए। थाना निरीक्षक कमल मोहन भंडारी के अनुसार फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट देने का मामला सामने आया है। मामले में पूछताछ की जा रही है। तहरीर मिलने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। 

Source

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें