डीएम ने किया आपदा प्रभावित कुमराड़ा गांव का दौरा

कुमराड़ा गांव
कुमराड़ा गांव 

 डीएम मयूर दीक्षित ने कुमराड़ा गांव पहुंचकर अतिवृष्टि से हुई तबाही का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्रभावित परिवारों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। साथ ही संबंधित अधिकारी कर्मचारियों को राहत कार्य एवं आपदा में क्षतिग्रस्त हुई व्यवस्थाओं को शीघ्र बहाल करने के निर्देश दिए।


बीते सोमवार को अतिवृष्टि से कुमराड़ा गांव के बीच से बहने वाले बरसाती नाले में उफान आ गया था। बरसात के पानी के साथ आया भारी मलबा लोगों के घर-दुकानों और खेतों में जा घुसा। मंगलवार को डीएम मयूर दीक्षित ने एसपी मणिकांत मिश्रा एवं अन्य अधिकारियों के गांव का दौरा किया। पता चला कि गांव के करीब तीन सौ परिवार आपदा से प्रभावित हुए हैं।


उत्तरकाशी :चिन्यालीसौड़ के कुमराडा गांव में आज बादल फटने के कारण हुई भारी तबाही


गांव की 110 हेक्टेयर कृषि भूमि, पेयजल लाइन, विद्युत आपूर्ति एवं संपर्क मार्ग क्षतिग्रस्त हुए हैं। साथ ही दो भैंस और दो बकरियां भी मलबे में दबी। गांव की दीपा देवी का मकान भी टूटा।


डीएम ने अधिकारियों को शीघ्र गांव की पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति सुचारु करने के निर्देश दिए। घरों से मलबा साफ होने तक प्रभावित परिवारों के रहने और खाने की व्यवस्था स्कूल में करने को कहा। जिला पूर्ति अधिकारी को गांव में खाद्यान्न एवं रसोई गैस की आपूर्ति करने व मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को मृत पशुओं का मुआवजा देने और पशुचारे का प्रबंध करने के निर्देश दिए। ग्रामीणों द्वारा विस्थापन की मांग करने पर डीएम ने भूवैज्ञानिकों से सर्वे कराकर शासन को रिपोर्ट भेजने की बात कही। इस मौके पर एसडीएम देवेंद्र नेगी, डा. प्रलयंकर नाथ, गोपाल भंडारी, देवेंद्र पटवाल, प्रकाश चंद रमोला, विजेंद्र रावत, विनोद पुरसोड़ा आदि मौजूद थे।

Source