आमा को बचाने के लिए आग में कूदीं पोतियां

जंगल की आग में जली गोमती देवी
जंगल की आग में जली गोमती देवी 

 भिकियासैंण। सूखे के चलते जंगलों में लगातार आग धधक रही है। विकासखंड भिकियासैंण के कुम्हार्ती गांव में आग बुझाते समय एक वृद्धा आग की चपेट में आ गई। इस दौरान उनकी दो पोतियों ने आव देखा न ताव और आग के बीच से अपनी आमा को किसी तरह बचा लाईं। करीब 63 फीसदी जली वृद्धा को सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है।


शुक्रवार को कुम्हार्ती के पास जंगल में लगी आग हवा के साथ गांव तक पहुंच गई। ग्रामीणों ने कई घंटों की मशक्कत के बाद घरों को बचाया। आग बुझाने समय 61 वर्षीय गोमती देवी लपटों की चपेट में आ गई। उनकी पोतियों रूपा और हेमा ने जब अपनी आमा को आग की चपेट में देखा तो उन्होंने साहस दिखाते हुए अपनी दादी को बचाया।


आग की चपेट में आने से वृद्धा का चेहरा और हाथ झुलस गए। सीएचसी में डॉ. एमके पांडे के नेतृत्व में मेडिकल टीम ने प्राथमिक उपचार कर गोमती देवी को हायर सेंटर रेफर कर दिया है। डाक्टरों ने बताया है वह 63 प्रतिशत जल गई हैं। नायब तहसीलदार दिवानगिरी ने बताया है राजस्व टीम प्रभावित गांव की ओर रवाना हो गई है। इधर गांव में भगत सिंह की गोशाला और सुरेश राम का शौचालय भी आग की चपेट में आ गए थे। लोगों ने किसी तरह जानवरों को बचाया। गोशाला के साथ कई लुट्टे और जलौनी लकड़ी राख हो गई।

Source