Header Advertisement

Uttarakhand : परिजन की अंत्येष्टि से लौट रहे थे रिश्तेदार, खुद पहुंचे मौत के द्वार, तस्वीरों में दर्दनाक मंजर

गहरी खाई में जा गिरी कार
गहरी खाई में जा गिरी कार  

 ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर सौड़पाणी के समीप एक कार अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी। हादसे में चालक समेत 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। कार पत्थरों से टकराते हुए खाई में गिरी, जिससे कार के परखच्चे उड़ गए। हादसे में मृत चार लोग रिश्तेदार थे और पौड़ी जिले के अरकणी गांव में किसी परिजन की अंत्येष्टि के बाद लौट रहे थे।

 

पौड़ी जिले के अरकणी गांव निवासी चार लोग अलग-अलग जगहों पर नौकरी करते हैं। गांव में किसी की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए चारों लोगों ने गुरुग्राम से कार बुक की और रास्ते में से एक-दूसरे को बैठाते गए।


रविवार को होमगार्ड जवान धीरज सिंह रावत (46) पुत्र रामविलास निवासी अरकणी पौड़ी, संजीव भंडारी (42)  पुत्र डीएस भंडारी निवासी बापू ग्राम ऋषिकेश, पवन सिंह भंडारी (62) निवासी गुरुग्राम हरियाणा और योगेंद्र भंडारी (57) पुत्र गोविंद सिह भंडारी निवासी इंद्रापुरम गाजियाबाद उत्तर प्रदेश, कार चालक अजीत पुत्र करतार सिंह निवासी तमसपुर झज्झर हरियाणा के साथ गांव से लौट रहे थे।


अचानक उनकी कार देवप्रयाग से करीब 17 किलोमीटर आगे सौड़पानी में ऋषिकेश की ओर अनियंत्रित होकर 200 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। खाई में पत्थरों पर लुढ़कते हुए कार के परखच्चे उड़ गए, जबकि पांचों लोग कार से छिटककर पत्थरों से जा टकराए। पत्थरों से चोट लगने से कार चालक समेत सभी 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।


थाना प्रभारी महिपाल सिंह रावत ने बताया कि 4 मृतक आपस में रिश्तेदार थे। प्रथम दृष्टया स्टेरिंग लॉक होने से हादसा होना लग रहा है। उन्होंने बताया कि हादसे में मृत होमगार्ड जवान धीरज की ड्यूटी इन दिनों हरिद्वार कुंभ में लगी हुई थी और उसे कल हरिद्वार लौटना था। 


पूर्व विधायक व कांग्रेस जिला प्रभारी देवप्रयाग विजयपाल सजवाण, सह प्रभारी राजपाल खरोला, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष खंडूड़ी और जिलाध्यक्ष हिमांशु बिजल्वाण ने दुर्घटना पर शोक जताया। उन्होंने दुर्घटना के लिए पीडब्लूडी राष्ट्रीय राजमार्ग खंड को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि राजमार्ग के किनारे क्रश बैरियर नहीं लगाए गए हैं जिससे हादसा हुआ। उन्होंने घटना की जांच की मांग की।

Source

Post a Comment

0 Comments