Header Advertisement

नैनीताल: घास काटने गई महिला पर बाघ ने किया हमला, अस्पताल में हुई मौत

महिला का शव - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
महिला का शव - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर

 कॉर्बेट टाइगर रिजर्व (सीटीआर) के बिजरानी रेंज में घास काटने गई महिला पर बाघ ने हमला कर दिया। ग्रामीण घायल महिला को तत्काल रामनगर अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। महिला की मौत से भड़के ग्रामीणों की अस्पताल में कॉर्बेट की उपनिदेशक से नोकझोंक हुई। उपनिदेशक के समझाने के बाद महिला का पोस्टमार्टम कराया गया।



ग्राम कानिया निवासी कमला देवी (45) पत्नी हरपाल गांव की महिलाओं के साथ बृहस्पतिवार सुबह करीब 10 बजे कानिया चौकी से सटे जंगल में घास लेने गई थी। वह कंपार्टमेंट नंबर 10-11 के कानिया बीट के पास घास काट रही थी, तभी घात लगाए बाघ ने उस हमला कर दिया। कमला की चीख सुनकर साथी महिलाओं के शोर मचाया तो बाघ भाग गया। इसके बाद घायल कमला को रामनगर अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। 



अस्पताल में जुटी ग्रामीणों की भीड़

बाघ के हमले में महिला की मौत की सूचना पर रामनगर अस्पताल में ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। उनका आरोप था कि क्षेत्र में लगातार बाघों के हमले हो रहे हैं और सीटीआर के कर्मचारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। आक्रोशित ग्रामीणों ने कहा कि बाघ को मारने तक वह कमला देवी का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। सीटीआर की उपनिदेशक कल्याणी और बिजरानी के रेंजर राजकुमार ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया। एसएसआई जयपाल सिंह चौहान ने भी ग्रामीणों को समझाया। इसके बाद पोस्टमार्टम कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।  

शव चौराहे पर रख लगाया जाम

बाघ के हमले में महिला की मौत पर भड़के ग्रामीणों ने पोस्टमार्टम के बाद कानिया चौराहा पर शव रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पहुंचे सीटीआर निदेशक को ग्रामीणों ने दो दिन में बाघ को पकड़ने का अल्टीमेटम दिया। चेतावनी दी कि यदि बाघ को नहीं पकड़ा तो ग्रामीण खुद ही मोर्चा संभालेंगे। ग्रामीण मृतका के बेटे को सरकारी नौकरी और मुआवजा देने की मांग पर अड़े रहे।


जाम लगाने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण सीटीआर निदेशक को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। इसके बाद सीटीआर निदेशक राहुल, बिजरानी रेंजर राजकुमार मौके पर पहुंचे। ज्येष्ठ प्रमुख संजय नेगी ने सीटीआर निदेशक को बताया कि हिम्मतपुर डोटियाल, कानिया, गौजानी क्षेत्र में बाघ के हमले लगातार बढ़ रहे हैं। कहा कि यदि हाथी किसी के खेत में मर जाता है तो विभाग खेत मालिक के खिलाफ कार्रवाई करता है।


वहीं बाघ ने एक महिला को मार दिया है लेकिन प्रशासन को किसी बात की कोई चिंता नहीं है। ग्रामीणों की मांग पर सीटीआर निदेशक ने मौके पर ही मुआवजा का तीन लाख रुपये का चेक दिया और एक लाख रुपये बाद में देने की बात कही। वहीं मृतका के बेटे को नौकरी देने का भी आश्वासन दिया है। सीटीआर निदेशक के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोल दिया। 


बाघ को पकड़ने के लिए चीफ वाइल्ड लाइफ से बात की जाएगी। विभागीय टीम से बाघ को ट्रेस कर पकड़ा जाएगा। पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा। 

- कल्याणी, उपनिदेशक, सीटीआर।

Source

Post a Comment

0 Comments