Weather Update: उत्तराखंड में अगले दो दिन बारिश का येलो अलर्ट,जानें किस जिले में कैसा रहेगा मौसम


 उत्तराखंड के कई इलाकों में बुधवार और गुरुवार को भारी बारिश की आशंका है। इसे लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है। देहरादून स्थित मौसम विज्ञान केंद्र से जारी पूर्वानुमान के अनुसार, 21 जुलाई को नैनीताल, चंपावत और पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। राज्य के बाकी हिस्सों में भी आकाशीय बिजली गिरने के साथ ही तीव्र बौछारें पड़ने की संभावना जताई गई है।


वहीं 22 जुलाई को देहरादून और नैनीताल जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश की आशंका जाहिर की गई है। इसे लेकर दोनों दिन के लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। 23 और 24 जुलाई को भी राज्य के कुछ हिस्सों में बारिश की संभावना है, लेकिन इन दो दिनों के लिए मौसम विभाग ने कोई अलर्ट जारी नहीं किया है। वहीं दो दिन बारिश के बाद देहरादून में मंगलवार मौसम राहतभरा रहा।


मानसूनी बरसात के बाद 350 सड़कें बंद
उत्तराखंड में बारिश की वजह से कई जिलों में सड़कें बंद हो गई हैं।प्रदेशभर में 347 सड़कों पर आवाजाही बंद होने से यात्रियों की परेशानियां भी बढ़ गई है।प्रदेशभर में जगह-जगह गाड़ियां फंसने से यात्री भी फंस गए हैं। पहाड़ों पर लगातार हो रही बारिश से सड़क खोलने में भी नोडल एजेंसी को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। गंगोत्री, यमुनोत्री, बदरीनाथ सहित नेशनल हाईवे पर यातायात बाधित है।

बारिश से हुआ जन जीवन अस्त व्यस्त
पर्यटन नगरी मसूरी में मंगलवार को सुबह से लेकर शाम चार बजे तक रूकरूक कर हो रही बारिश से आम जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया। बारिश के चलते मालरोड़ सहित शहर के पर्यटक स्थलों पर भी नामात्र पर्यटक ही नजर आये। बारिश के कारण अधिकांश पर्यटक होटलों में ही कैद रहे। वहीं मंगलवार को साप्ताहिक बंदी के चलते भी पर्यटक घुमने के लिए नहीं निकले,जिससे शाम पांच बजे करीब मालरोड़ पर बहुत कम पर्यटक नजर आये। हालांकि इस दौरान कुछ पर्यटक यहां के सुहावने मौसम का आनंद लेते हुए भी नजर आये।


इस मौके पर मालरोड पर घुम रहे पर्यटक अरविंद ने बताया कि वे कल यहां पहुंचे थे तब भी यहां पर बारिश हो रही थी और आज सुबह से भी बारिश हो रही है,जिससे वे कहीं घुमने भी नहीं जा पाये। शाम को मौसम खुलने के बाद वे मालरोड़ की सैर कर यहां के मौसम का जमकर लुफ्त उठा रहे हैं,यहां पर काफी ठंडा हो गया,जिसके चलते उन्हें गर्म कपडों की खरीदारी करनी पड़ी। वहीं दूसरी ओर बारिश के चलते शहर की अधिकांश नालियां चोक हो गई,जिससे नालियों का गंदा पानी सडकों पर बहने से पैदल चलने वालों को भारी असुविधाओं का सामना करना पडा।

Source