उत्तराखंड:भारी बारिश ने उत्तरकाशी में जमकर मचाई तबाही,एक बच्ची समेत दो महिला लापता,मौसम विभाग का ऑरेंज अलर्ट


 उत्तरकाशी जिले में बीते चार घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश ने लोगों का जीवन पूरी तरह अस्त ब्यस्त कर दिया है। जिला मुख्यालय के समीप मांडो गांव में भारी बारिश से मांडो गदेरा उफान पर आ गया, जिससे लोगों के घरों में पानी भर गया है। उत्तराखंड में कई जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। देहरादून के साथ ही पिथौरागढ़, बागेश्वर, चम्पावत, हरिद्वार, नैनीताल, पौड़ी जिलों में कहीं कहीं अत्यंत भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश के बाद भटवाड़ी ब्लॉक के कंकराड़ी, निरकोट व सिरोर में पानी भरने की सूचना है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि कंकराड़ी गांव में एक मकान क्षतिग्रस्त होने की सूचना मिल रही है।




बताया कि ग्राम मण्डो में एसडीएम भटवाड़ी, एसडीआरएफ सहित पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई है। वहीं कंकराड़ी गांव के लिए एनडीआरएफ व तहसीलदार को रवाना किया गया है। एसडीआरएफ टीम ने घायलों को रस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया है। घायलों की पहचान गणेश बहादुर पुत्र काली बहादुर, रविन्द्र पुत्र गणेश बहादुर और रामबालक यादव पुत्र मकुर यादव के रूप में हुई है।  डीएम मयूर दीक्षित ने अस्प्ताल प्रशासन को सतर्क रहने के साथ ही  व्यवस्थानएं चाक चौबन्द रखने के निर्देश दिए हैं। आपदा प्रवंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया मांडो गांव में एक ही परिवार की दो महिला व एक बच्ची लापता हैं, जिनकी तलाश के लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा है। 


उत्तराखंड में कई जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। देहरादून के साथ ही पिथौरागढ़, बागेश्वर, चम्पावत, हरिद्वार, नैनीताल, पौड़ी जिलों में कहीं कहीं अत्यंत भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 20 को नैनीताल, चम्पावत, पिथौरागढ़ जिलों में कहीं कहीं भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट रहेगा। इस दौरान आकाशीय बिजली गिरने की संभावना, तीव्र बौछार, पहाड़ों में कोहरा, मैदानों में धुंध जैसा वातावरण रहेगा। पहाड़ों में भारी बारिश के चलते भूस्खलन, चट्टान खिसकने, राजमार्ग अवरुद्ध रहने, नदी नालों में अतिप्रवाह व निचले इलाकों में जल भराव की संभावना है। राज्य में 21 और 22 को भी हल्की से मध्यम बारिश व कुछ हिस्सों में गर्जन के साथ तीव्र बौछारें पड़ सकती हैं। मौसम निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, फिलहाल मौसम में परिवर्तन नहीं दिख रहा है।


प्रदेश में जमकर हो रही बारिश

रविवार को प्रदेश के कई हिस्सों में जमकर बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक बागेश्वर के लिति में 162, सामा में 100, लोहरखेत में 107, सोंग में 98, कपकोट में 60, चम्पावत बनबसा में 99.5, जौलीग्रांट 142.8, रायवाला 132, मसूरी 70, सहसपुर 43, कोटद्वार 97, नीलकंठ 73.5, कालागढ़ 61, लालढांग 52.5, यमकेश्वर 38, हरिद्वार रोशनाबाद 55, रामनगर 187, हल्द्वानी 76, रामनगर 59, बेरीनाग 31, डीडीहाट 45.5, उधमसिंहनगर खटीमा 123, काशीपुर 53 एमएम बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में इस वक्त मानसून सामान्य तरीके से सक्रिय है।

 

दून में 24 घंटे में हुई 80 एमएम बारिश

दून में पिछले 24 घंटें में जमकर बारिश हुई है। कुल मिलाकर 80 एमएम तक बारिश हो चुकी है और बारिश का सिलसिला पिछले 24 घंटों से अनवरत है। बीच में कुछ समय के लिए बारिश रुकी। लेकिन शनिवार देर रात, रविवार तड़के व दोपहर के बाद शाम के समय बारिश बार बार रुकने के बाद शुरू हो गई। दून में रविवार को अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 24.3 डिग्री के साथ सामान्य से एक डिग्री अधिक रहा। मौसम विभाग ने दून में अगले 24 घंटों तक भारी बारिश का अनुमान लगाया है। 21 के बाद बारिश में कुछ कमी आ सकती है। लगातार बारिश के दौर चलने से तापमान में काफी गिरावट आ गई है।


 

उत्तराखंड में बारिश के बाद 107 सड़कें बंद

उत्तराखंड में हो रही भारी बारिश की वजह से रविवार को 107 सड़कें बंद हो गई। इस वजह से लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। खासकर बारिश की वजह से सड़कों को खोलने के काम में बाधा आ रही है जिससे सड़कें कम मात्रा में खुल पाई हैं। लोनिवि के एचओडी हरिओम शर्मा ने बताया कि रविवार को राज्य में कुल 107 सड़कें बंद हो गई। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से सड़कों को खोलने के लिए कुल 277 जेसीबी मशीनों को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि रविवार को भारी बारिश के बावजूद राज्य भर में कुल 40 सड़कों को खोला गया है। उन्होंने कहा कि बारिश की वजह से सड़कों को खोलने के काम में बाधा उत्पन्न हो रही है।

Source