उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू: शुक्रवार से 18 मई तक रोज तीन घंटे खुलेंगी राशन की दुकानें

राशन
राशन

 उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू के दौरान आज से 18 मई तक हर दिन तीन घंटे राशन की दुकानें (गल्ले की दुकानें) खुलेंगी। मुख्य सचिव ओम प्रकाश की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।



प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्यभर में 12 हजार से अधिक राशन की दुकानें नियमित रूप से नहीं खुल पा रही हैं। जबकि फल-सब्जी, दूध-डेरी, मीट, मछली की दुकानें हर रोज सात से दस बजे तक खुल रही हैं।



उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में 7127 नए संक्रमित मिले, 122 मरीजों की हुई मौत


विभागीय मंत्री बंशीधर भगत के मुताबिक राशन विक्रेताओं की मांग पर उन्होंने दुकाने खोलने के संबंध में मुख्यमंत्री से बात की थी। अब इस संबंध में शासनादेश भी जारी कर दिया गया है। मुख्य सचिव ओम प्रकाश की ओर से जारी आदेश में कहा गया है सस्ते गल्ले के संचालन के संबंध में नौ मई 2021 के आदेश में संशोधन किया गया है। आदेश में कहा गया है कि अब कोविड कर्फ्यू के दौरान खाद्यान वितरण को सरल बनाने के लिए सस्ते गल्ले की दुकानें 14 से 18 मई तक सुबह 7 से 10 बजे तक खुली रहेंगी।


यह आ रही थी दिक्कत

सरकारी राशन विक्रेताओं के मुताबिक राशन की दुकानें सप्ताह में एक या फिर दो दिन चार घंटे खुल रहीं थी। इतने कम समय में लाखों उपभोक्ताओं को अनाज बांटने से दुकानों पर अधिक दबाव पड़ रहा था। इससे व्यवस्था बनाने में भी खासी दिक्कतें पेश आ रही थीं।


अभी 18 मई तक हर दिन तीन घंटे राशन की दुकानें खोलने का आदेश हुआ है। इसके बाद परिस्थितियों को देखते हुए दुकान खुलने की तिथि को आगे बढ़ाया जा सकता है।

- बंशीधर भगत, खाद्य आपूर्ति मंत्री

सस्ता गल्ला राशन विक्रेताओं को इसी हफ्ते मिलेगा रुका कमीशन

प्रदेश के सस्ता गल्ला राशन विक्रेताओं को इस सप्ताह पिछले एक साल से रुका कमीशन मिलेगा। खाद्य सचिव सुशील कुमार के मुताबिक प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना एवं परिवहन मद में केंद्र सरकार से उत्तराखंड को 25 करोड़ का बजट मिल चुका है। जिलों को जल्द यह धनराशि आवंटित कर दी जाएगी।


प्रदेश के सस्ता गल्ला विक्रेताओं के मुताबिक उनका पिछले एक साल से कमीशन रुका है। कई बार के आश्वासन के बाद भी उन्हें कमीशन नहीं दिया गया। उत्तराखंड सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता परिषद के प्रांतीय अध्यक्ष जितेंद्र गुप्ता ने कहा कि यदि रुका कमीशन न मिला तो राशन विक्रेता अगले महीने से राशन नहीं बांटेगे। इस बार कई राशन विक्रेता खाद्यान का उठान कर चुके हैं, लेकिन अगली बार बिना कमीशन मिले खाद्यान उठान नहीं किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि राशन विक्रेताओं को इस महीने का कमीशन कब मिलेगा, कुछ पता नहीं है। विभाग की ओर से समय पर कमीशन न दिए जाने से राशन विक्रेताओं को खासी दिक्कतें पेश आ रही हैं। संयुक्त सचिव खाद्य पीएस पांगती के मुताबिक विभाग को इस मद में बजट मिल चुका है। अलगे दो दिनों के भीतर यह धनराशि जिलों को आवंटित कर दी जाएगी।

Source

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें