उत्तराखंड में कोरोना: मंगलवार को आए रिकॉर्ड 1925 संक्रमित, 13 की मौत, एक्टिव केस नौ हजार पार 

कोरोना वायरस संक्रमित
कोरोना वायरस संक्रमित 

 उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण और मरीजों की मौत के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। मंगलवार को बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 1925 संक्रमित मिले हैं। इससे पहले बीते साल 19 सितंबर को सर्वाधिक 2078 मामले सामने आए थे। वहीं, आज 13 मरीजों की मौत हुई। साथ ही सक्रिय मरीजों की संख्या नौ हजार पार हो गई है। जबकि आज 405 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। इन्हें मिला कर अब तक 98897 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। अब कुल संक्रमितों की संख्या 112071 हो गई है।



उत्तराखंड: बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश में हैं सिर्फ 724 वेंटिलेटर



स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक मंगलवार को 44201 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि देहरादून जिले में सबसे अधिक 775 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं, हरिद्वार जिले में 594, नैनीताल में 217, ऊधमसिंह नगर में 172, पौड़ी में 33 , टिहरी में 35, रुद्रप्रयाग में 12,  पिथौरागढ़ में 13, उत्तरकाशी में एक, अल्मोड़ा में 31, चमोली में 8, बागेश्वर में 13, चंपावत में 21 संक्रमित मिले। वहीं, कंटेंमेंट जोन की संख्या 54 पहुंच गई है। 


कोरोना वायरस: राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी कोरोना संक्रमित, सोशल मीडिया पर खुद दी जानकारी


प्रदेश में अब तक 1780 मरीजों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या कम होने से सक्रिय मामले बढ़ रहे हैं। वर्तमान में 9353 सक्रिय मरीजों का उपचार किया जा रहा है।

मसूरी में एक की स्कूल के 16 छात्रों को कोरोना

मसूरी में तिब्बतन होम्स फाउंडेशन स्कूल के 16 छात्रों और छह लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी छात्रों को चमन स्टेट स्थित तिब्बतन होम्स बिल्डिंग चार्लिमाउंट में रखा गया है। प्रशासन ने इस क्षेत्र को कंटेंनमेंट जोन घोषित किया है।


कोविड-19 नोडल अधिकारी डॉ. प्रदीप राणा ने बताया कि उप जिला अस्पताल मसूरी लंढौर में छह लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। सभी को होम आइसोलेशन में रहने को कहा गया है। एसडीएम मनीष कुमार ने बताया कि तिब्बतन होम्स फाउंडेशन स्कूल के 13 छात्रों का कोरोना टेस्ट देहरादून और तीन छात्रों की जांच मसूरी में की गई थी।


सभी छात्रों को हॉस्टल में रखा गया है। हॉस्टल को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। बताया कि बुधवार को स्कूल में एसओपी के पालन की जांच की जाएगी। कहा कि हैप्पी वैली क्षेत्र में टीकाकरण तेजी से चल रहा है। 


हेल्पलाइन नंबर जारी

जिला प्रशासन ने लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। अगर किसी को सर्दी, जुकाम, बुखार के लक्षण महसूस होते है तो 0135 2724504, 2626066, 2726066 और मोबाइल नंबर 7534826066 पर संपर्क किया जा सकता है। साथ ही पुलिस विभाग के टोल फ्री नंबर 112 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

बुधवार को मिलेंगे 54 हजार टीके

प्रदेश को बुधवार को 54 हजार टीके और मिलेंगे। सीरम इंस्टीट्यूट पुणे से विमान से वैक्सीन जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाई जाएगी। वहीं, स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि जिलों के पास अभी वैक्सीन उपलब्ध है। जहां कमी होगी, वहां बुधवार को वैक्सीन भेजी जाएगी। 


केंद्र से वैक्सीन की आपूर्ति में थोड़ी कमी आने से प्रदेश में टीकाकरण की गति धीमी पड़ गई है। पहले एक दिन में एक लाख से अधिक लोगों को टीका लगाने का रिकॉर्ड बना था। लेकिन अब तक टीकाकरण में कमी आई है। 11 अप्रैल को प्रदेश को 1.38 लाख टीके मिले थे। मंगलवार को पूरे प्रदेश में 620 बूथों पर 34799 लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया। 


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक डॉ.सरोज नैथानी ने बताया कि बुधवार को केंद्र से 54 हजार टीके भेेजे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वैक्सीन की कमी नहीं है। केंद्र की तरफ से लगातार वैक्सीन की आपूर्ति की जा रही है।श्


36 आईसीयू और 188 जनरल बेड आरक्षित 

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल प्रशासन ने आईसीयू के 36 और 188 जनरल बेड को आरक्षित कर दिया है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार धवन ने बताया कि सीएमओ देहरादून से बातचीत के बाद कोरोना मरीजों के उपचार के लिए विशेष एक्शन प्लान तैयार किया गया है। अस्पताल के छाती एवं सांस रोग विभाग के प्रमुख डॉ. जगदीश रावत ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार ही मरीजों का उपचार किया जाएगा। 

Source