कोविड के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति सीमित,जानें कितने प्रतिशत आएंगे कर्मचारी

government officer 50 percent employees presence as corona surge uttarakhand
Government officer 50 per cent employees presence as corona surge Uttarakhand (File Photo)| Hindustan


सरकारी दफ्तरों में जरूरी सेवाओं वाले विभागों को छोड़कर बाकी जगह 50%  उपस्थिति रोटेशन के आधार पर सीमित  रहेगी। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने इसके आदेश कर दिए हैं। गर्भवती महिला और दस से कम उम्र के बच्चों वाली महिला कर्मियों को अपरिहार्य स्थिति में ही दफ्तर बुलाया जा सकेगा।


 यही नियम 55 से अधिक आयु और गंभीर बीमार कर्मियों पर भी लागू होंगे। बहुत जरूरी होने पर कर्मचारियों को बुलाया जा सकेगा। सरकारी कार्यालयों में समूह ग और घ के कर्मचारियों पर आदेश लागू होंगे। इन कार्यालयों में 50 प्रतिशत उपस्थिति रोटेशन के आधार पर रहेगी। मुख्य सचिव ने निर्देश दिए हैं कि जहां तक संभव हो, बैठकें वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ही की जाएं। यदि ऐसा संभव नहीं हो, तो यह बैठकें कम से कम रखी जाएं।


संगठनों ने जताया आभार: इस आदेश पर कर्मचारी संगठनों ने सरकार का आभार जताया। सचिवालय संघ के अध्यक्ष दीपक जोशी ने कहा कि मंगलवार को ही संगठन मुख्य सचिव से मिला और इसके तत्काल बाद आदेश हो गया। इस आदेश को समूह ख श्रेणी के लिए भी लागू कराया जाएगा। 



21 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कोरोना का असर: केदारनाथ समेत पर्यटक स्थलों से जुड़ी 10 लाख से अधिक की बुकिंग रद्द 

देहरादून: अब एक क्लिक पर मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड, ऑक्सीजन और दवा की जानकारी  

उत्तराखंड : आज पूरे प्रदेश में रहेगा कर्फ्यू, दून में हफ्ते में दो दिन का लॉकडाउन 

उत्तराखंड में कोरोना: देहरादून, हरिद्वार और नैनीताल में 30 अप्रैल तक स्कूल बंद 

उत्तराखंड में कोरोना: सोमवार को 2160 नए संक्रमित मिले, 24 मरीजों की हुई मौत 

उत्तराखंड: चीन सीमा से लगे चिन्यालीसौड़ में एमआई-17 और अपाचे के बाद अब उतरेगा वायुसेना का हरक्यूलिस विमान 

UKSSSC वन दरोगा (Forest Inspector) New Updated Syllabus 2021 & Exam Pattern

अंतरिक्ष मलबा क्या होता है? | General Knowledge in Hindi

अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस 2021: इतिहास, महत्व, विषय और उत्सव

जानें भारत की पहली शिक्षिका सावित्री बाई फुले की जीवनी 

Source>