चमोली आपदा Live : तपोवन सुरंग से तीन और मैठाणा से बरामद हुआ एक शव, कुल मृतकों की संख्या हुई 55

चमोली आपदाः सुरंग के अंदर मलबा हटाने का कार्य जारी
चमोली आपदाः सुरंग के अंदर मलबा हटाने का कार्य जारी

 लाइव अपडेटः



- एनटीपीसी ने प्रोजेक्ट निदेशक उज्जवल भट्टाचार्यने कहा कि तपोवन सुरंग में 135 मीटर तक मलबा हटाया जा चुका है। शवाें को सावधानी पूर्वक निकाला जा रहा है।

 

- उत्तराखंड राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल ने चमोली जिले के आपदा प्रभावित रैणी गांव में पानी के स्तर में वृद्धि का पता लगाने के लिए एक अलार्म सिस्टम लगा दिया है।

 

- सूचना विभाग के अनुसार आज एक शव मैठाणा बगड़ में बरामद किया गया है। आज दोपहर तक तपोवन सुरंग से तीन और मैठाणा से एक शव बरामद हो चुका है। अब कुल मृतकाें की संख्या 55 हाे गई है।


- उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक आपदा के बाद जितने शव मिले हैं उनमें से 29 शवों की पहचान कर ली गई है। 25 की पहचान अभी नहीं की जा सकी है। 

 

- उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमार आज तपोवन सुरंग से तीन शव मिलने की पुष्टि की है। रैणी गांव से आज कोई शव नहीं मिला है। अगले तीन-चार दिन तक राहत बचाव कार्य जारी रहेगा। 

 

- अब तक कुल 55 परिजनों के डीएन सैम्पल शवों की शिनाख्त में सहायता के लिए गए हैं।


- चमोली पुलिस का कहना है कि आज अभी तक सुरंग से तीन शव बरामद किए जा चुके हैं। अब मृतकों की कुल संख्या 54 हो गई है। वहीं अभी तक जोशीमठ पुलिस थाने में 179 लापता लोगों के नाम रजिस्टर किए गए हैं।



- एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि अब तक सुरंग से आठ शव निकाले जा चुके हैं। आपॅरेशन अभी भी जारी है। हम 24 घंटे काम कर रहे हैं। 

 


- उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकाें में दो दिन आज और कल बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया गया है। फिलहाल चमोली जिले सहित तपोवन में मौसम साफ है।


- पुलिस और प्रशासन ने अब तक मिले कुल 53 शवों में से 32 शवों और 11 मानव अंगों का अंतिम संस्कार कराया है।


- तपोवन सुरंग तथा रैणी क्षेत्र में सर्च अभियान जारी है। आपदा में लापता 206 लोगों में से 53 शव बरामद हुए हैं। अभी भी 151 लापता हैं।


- सुरंग के अंदर आज भी मलबा हटाने का कार्य जारी है। आज सोमवार को तपोवन सुरंंग से दो और शव बरामद हुए हैं। अब सुरंग से आठ शव निकाले जा चुके हैं।


चमोली जल प्रलय: पत्नी के प्रसव के लिए घर आने वाला था हरपाल, उससे पहले ही आ गई मौत की खबर


 

- राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) का कहना है कि तपोवन सुरंंग सहित आपदाग्रस्त क्षेत्रों से अब तक कुल 53 शव बरामद हाे चुके हैं। जोशीमठ, चमोली में तपोवन सुरंग पर बचाव अभियान जारी है।


चमोली आपदाः आठवें दिन मिले 13 शव, कुछ ही घंटों में टूटी थी सांसों की डोर


बीते रविवार आई जल प्रलय के एक हफ्ते बाद रविवार को तपोवन जल विद्युत परियोजना की सुरंग समेत पूरे आपदा प्रभावित इलाके से 13 शव मिले थे। इनमें से विद्युत परियोजना की सुरंग में से पांच, ऋषि गंगा जल विद्युत परियोजना स्थल के आसपास छह, रैणी गांव में मलबे में एक और एक शव रुद्रप्रयाग में अलकनंदा किनारे से मिला।


सुरंग से शव निकलते देख टूटी अपनों के जिंदा होने की उम्मीद, शवगृह के बाहर जुटी रोते-बिलखते परिजनों की भीड़, तस्वीरें...



सात फरवरी को ऋषि गंगा में आई बाढ़ के बाद 35 लोग तपोवन सुरंग में फंस गए थे, जबकि बैराज, ऋषिगंगा जल विद्युत परियोजना स्थल व अन्य नदी किनारे सैकड़ों लोग मलबे में दब गए थे। तब से सुरंग और आसपास लापता लोगों की खोज की जा रही है। सुरंग से डंपर के जरिए मलबा बाहर लाया जा रहा है। 

Source

Previous Post Next Post