Uttarakhand Glacier Burst Live Updates: लापता 202 लोगों में से पांच लोग खुद आए वापस, 197 लोगों की तलाश जारी

बैठक लेते सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत
बैठक लेते सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत 

 

उत्तराखंड के चमोली में रविवार को ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया। अबतक के राहत और बचाव कार्य के दौरान चमोली जिला पुलिस ने अब तक 26 शव मिलने की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि अभी भी 202 से अधिक लोग लापता  थे, जिसमें से पांच लोग खुद वापस आए हैं। रात में भी बचाव कार्य जारी रहा। नुकसान का आकलन जारी है। सुबह तड़के चार बजे से एक बार फिर बचाव कार्य शुरू हो गया है। सुरंगों के पास से मलबा हटाया जा रहा है। माना जा रहा है कि इनमें काफी लोग फंसे हुए हैं। हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए राज्य और केंद्र सरकार ने मुआवजे की घोषणा की है। राज्य सरकार चार और केंद्र सरकार दो लाख रुपये की सहयोग राशि देगी। सेना, वायुसेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी और एसडीआरएफ की टीमें स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर राहत और बचाव का कार्य कर रहे हैं। वैश्विक नेताओं ने घटना पर गहरा दुख जताया है। वहीं संयुक्त राष्ट्र ने आवश्यकता होने पर मदद करने की पेशकश की है। यहां पढ़ें इससे जुड़े सभी अपडेट्स

लाइव अपडेट

10:29 PM, 08-FEB-2021

राज्य के आपदा मोचन बल की डीआईजी रिद्धिम अग्रवाल ने बताया कि आपदा के बाद लापता  हुए लोग अब वापस आकर अपनी उपस्थिति की सूचना दे रहे हैं। लापता 202 लोगों में से आज पांच लोगों ने स्वयं की उपस्थिति रिपोर्ट दर्ज की । अब कुल  लापता लोगों की संख्या हुई 197 हो गई है। इनकी तलाश की जा रही है।

09:19 PM, 08-FEB-2021

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तपोवन में देर शाम आईजी, डीआईजी, डीएम, एसपी, आर्मी, आईटीबीपी, बीआरओ के वरिष्ठ अधिकारियों और एनटीपीसी के प्रोजेक्ट अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की। साथ ही डीएम को समय-समय पर मीडिया को ब्रीफिंग करने के निर्देश दिए जिससे भ्रामक और गलत खबरें न फैले।

08:23 PM, 08-FEB-2021

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार  के अनुसार, चमोली आपदा में अब तक अलग-अलग स्थानों से 26 लोगों के शव बरामद किए गए हैं। 
 

07:58 PM, 08-FEB-2021

आपदा प्रभावित क्षेत्र में चल रहे राहत एवं बचाव कार्यों के लिए शासन ने सोमवार को एसडीआरएफ मद से चमोली जिलाधिकारी को 20 करोड़ रुपये जारी किए। इस धनराशि से जानमाल के नुकसान की भरपाई होगी।

06:55 PM, 08-FEB-2021

उत्तराखंड पुलिस के अनुसार, चमोली आपदा में अब तक अलग-अलग स्थानों से 24 लोगों के शव बरामद किए गए हैं। 

06:13 PM, 08-FEB-2021

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आपदा प्रभावित जोशीमठ का फिर से दौरा किया। देर शाम वे जोशीमठ पहुंचे और अधिकारियों से बात की। अब वे आपदा को लेकर समीक्षा बैठक भी करेंगे। 

05:42 PM, 08-FEB-2021

दोबारा शुरू होगा तपोवन परियोजना का काम

चमोली पहुंचे केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने सोमवार को आपदा प्रभावित क्षेत्र तपोवन का दौरा कर स्थानीय लोगों से आपदा के बारे में जारकारी ली। उन्होंने एनटीपीसी के अधिकारियों से परियोजना के बारे में जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि तपोवन और ऋषि गंगा परियोजनाओं को लगभग 15 सौ करोड़ की क्षति हुई है। वर्ष 2023 तक 520 मेगावाट की तपोवन-विष्णुगाड़ जल विद्युत परियोजना का कार्य पूर्ण होना था। लेकिन परियोजना बैराज, टनल में मलबा पसरा है। इसे हटाने में समय लगेगा। इसके बाद परियोजना निर्माण कार्य दोबारा चालू किया जाएगा। 

05:12 PM, 08-FEB-2021

पीएम मोदी ने उत्तराखंड के सांसदों से की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह ने आपदा को लेकर उत्तराखंड के सभी सांसदों के साथ बातचीत की। इस दौरान उन्होंने आपदा के बाद राहत बचाव कार्यों और भविष्य के लिए क्या किया जाए इसे लेकर चर्चा की। 

04:34 PM, 08-FEB-2021

चमोली में ग्लेशियर फटने के कारण उत्तराखंड में फंसे झारखंड के लोगों के लिए झारखंड सरकार ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। हेल्प लाइन नंबर...

04:15 PM, 08-FEB-2021


केंद्रीय मंत्री आरके सिंह जोशीमठ पहुंचे

हालात का जायजा लेने के लिए केंद्रीय मंत्री आरके सिंह जोशीमठ पहुंचे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी आज फिर आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा करेंगे। वह रविवार को भी यहां पहुंचे थे।

03:59 PM, 08-FEB-2021


ग्लेशियर का हवाई सर्वेक्षण कर रही डीआरडीओ की टीम

डीआरडीओ के निदेशक डॉ. एलके सिन्हा ने बताया कि डीआरडीओ की टीम चमोली में आपदा लाने वाले ग्लेशियर का हवाई सर्वेक्षण कर रही है। प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि एक लटकता हुआ ग्लेशियर मुख्य ग्लेशियर से अलग हो गया और संकरी घाटी में नीचे आ गया।

03:01 PM, 08-FEB-2021


ग्लेशियर नहीं टूटा, भारी मात्रा में बर्फ पिघलने से आई आपदा

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि क्षेत्र में ग्लेशियर नहीं टूटा बल्कि भारी मात्रा में बर्फ पिघलने से आपदा आई है। आज हुई बैठक में इसरो के साइंटिस्टस ने सेटेलाइट पिक्चर से साफ किया कि यह आपदा ग्लेशियर टूटने नहीं आई। तापमान बढ़ने से बर्फ पिघली और यह हादसा हो गया।




01:56 PM, 08-FEB-2021


आपदा प्रभावितों के लिए तैयार की राशन की एक हजार किट

चमोली में आपदा प्राभावितों के लिए खाद्य आपूर्ति विभाग ने राशन की एक हजार किट तैयार की है। जिसमें आटा, दाल, चीनी, चायपत्ती, नमक, मोमबत्ती, माचिस, तेल , मसाले, साबुन आदि रखा गया है। 

01:28 PM, 08-FEB-2021


डीजीपी अशोक कुमार का कहना है कि चमोली हादसे में अभी तक लगभग 202 लोगों के लापता होने की सूचना है। वहीं 19 लोगों के शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किए गए है। राहत-बचाव कार्य त्वरित रूप से जारी है। 

12:56 PM, 08-FEB-2021


मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को निर्देश दिए हैं कि इसरो के वैज्ञानिकों एवं विशेषज्ञों से इस घटना के कारणों का पता किया जाए, ताकि भविष्य में कुछ एहतियात बरती जा सके।

12:46 PM, 08-FEB-2021


अन्य जिलों से भी अधिकारी मौके पर भेजे गए

जिला प्रशासन की पूरी टीम रविवार से ही क्षेत्र में राहत एवं बचाव कार्यों में लगी है। अन्य जिलों से भी अधिकारी मौके पर भेजे गए हैं, ताकि आपदा ग्रस्त इलाकों में जो शव मिलें, उनकी पहचान और पोस्टमार्टम जल्द हो सके।
 

12:43 PM, 08-FEB-2021


सोमवार को हरकी पैड़ी पर लोगों की भीड़

सोमवार को हरिद्वार स्थित हरकी पैड़ी पर लोगों की भीड़ देखने को मिली। रविवार को चमोली में ग्लेशियर टूटने के बाद आई आपदा के मद्देनजर यहां गंगा घाटों को सील कर दिया गया था। देर रात यहां पानी छोड़ा गया था। फिलहाल घाटों पर पानी कम है।

12:35 PM, 08-FEB-2021


आपदा प्रभावित रैणी क्षेत्र में रविवार से डीजीपी मौजूद

आपदा प्रभावित रैणी क्षेत्र में रविवार से डीजीपी अशोक कुमार कैंप कर रहे हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कमिश्रर गढ़वाल और डीआईजी गढ़वाल को सोमवार से क्षेत्र में कैंप करने के निर्देश दिए हैं।

12:13 PM, 08-FEB-2021


40 से 50 लोग अभी सुरंग में फंसे, शेष लोगों के बह जाने की आशंका - डीजी एनडीआरएफ

एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने बताया कि ढाई किमी. लंबी सुरंग में राहत बचाव कार्य जारी है। 27 लोगों को जिंदा निकाला गया है। 11 शव बरामद किए गए हैं। वहीं कुल 153 लोग लापता हैं। बताया कि 40 से 50 लोग अभी सुरंग में फंसे हुए हैं। शेष लोगों के मलबे में बह जाने की आशंका है।

12:10 PM, 08-FEB-2021


बुजुर्ग महिला की तबीयत अचानक खराब

बताया गया कि पास के गांव में एक बुजुर्ग महिला की तबीयत अचानक खराब हो गई। आपदा के कारण यहां सड़क टूटी पड़ी है। जिस कारण उक्त बुजुर्ग महिला को हेलीकॉप्टर द्वारा एयर लिफ्ट किया गया और अस्पताल पहुंचाया गया।

12:01 PM, 08-FEB-2021


उमड़ा लोगों का हुजूम

बताया गया कि सुरंग बेहद संकरी है। जिस वहज से यहां केवल एक ही जेसीबी मलबा निकाल पा रही है। यहां लोगों का हुजूम उमड़ा हुआ है। हेलीकॉप्टर द्वारा आपदा प्रभावित क्षेत्र में राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है।

11:55 AM, 08-FEB-2021


श्रीनगर में इस समय 531.50 मीटर पर बह रही अलकनंदा

श्रीनगर में अलकनंदा इस समय 531.50 मीटर पर बह रही है। रविवार रात 9 बजे जल स्तर 532.50 मीटर था। चेतावनी स्तर 535 मीटर है। खतरे का निशान 536 मीटर पर है।

11:28 AM, 08-FEB-2021


फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए किए जा रहे हर संभव प्रयास

गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत, जनपद प्रभारी मंत्री डा. धन सिंह रावत, विधायक महेंद्र प्रसाद भट्ट, विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी ने भी तपोवन एवं रैणी में आपदा प्रभावित क्षेत्र का जायजा लिया। इस दौरान गढ़वाल सांसद एवं प्रभारी मंत्री प्रभावित परिवारों के परिजनों से मिले और उनको हर संभव मदद पहुंचाने का भरोसा दिलाया। प्रभारी मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि जिला प्रशासन, पुलिस, आईटीबीपी, आर्मी, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, बीआरओ सभी मिलकर युद्ध स्तर पर रात-दिन राहत-बचाव कार्य में जुटे हैं और फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

10:56 AM, 08-FEB-2021


आपदा में लापता हुए करीब 203 लोग, जिनमें से 11 शव बरामद

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि लगभग 203 लोग आपदा में लापता हुए हैं। जिनमें से 11 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। हमें कल तक एक सहायक कंपनी के प्रोजेक्ट तपोवन के बारे में पता नहीं था। हम यह मानकर चल रहे हैं कि दूसरी सुरंग में 35 लोग अभी भी फंसे हुए हैं। राहत-बचाव कार्य जारी है।
 

डीआईजी गढ़वाल रेंज नीरु गर्ग ने कहा कि हमें सूचित किया गया था कि 178 लोगों को यहां पास जारी किया गया था। जिनमें से 15 लोगों को रविवार को ही सुरक्षित निकाल लिया गया था। 

10:34 AM, 08-FEB-2021


यह बेहद कठिन परिस्थिति - केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक

आपदा ग्रस्त इलाके का निरीक्षण करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि यह बेहद कठिन परिस्थिति है, लेकिन आईटीबीपी ने पहली सुरंग से सफलतापूर्वक लोगों को निकाल लिया है। अब वह दूसरी सुरंग पर कार्य कर रहे हैं। एनडीआरएफ और सेना भी राहत बचाव कार्य में लगी है। दोपहर तक कुछ सकारात्मक परिणाम आने की संभावना है।
 
वहीं सोमवार दूसरे दिन जारी राहत बचाव कार्य के तहत एसडीआरएफ उत्तराखंड पुलिस की टीम श्रीनगर बांध के आसपास लापता लोगों की खोज में लगी हुई है।

10:09 AM, 08-FEB-2021


डीआरडीओ और एसएएआई के वैज्ञानिकों की टीम जोशीमठ के लिए रवाना

गृह मंत्रालय (एमएचए) का कहना है कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) - स्नो एंड एवलांच स्टडी इस्टेब्लिशमेंट संस्था (एसएएसई) के वैज्ञानिकों की एक टीम कल रात देहरादून के लिए रवाना हुई। जोशीमठ क्षेत्र से निगरानी के लिए वैज्ञानिकों की टीम रवाना हो रही है।
 


भारतीय सेना का कहना है कि इंजीनियरिंग टास्क फोर्स सहित सेना के कर्मियों के प्रयासों के बाद सुरंग का मुंह साफ कर दिया गया है। जनरेटर और सर्च लाइट लगाकर रात भर काम जारी रखा गया। घटना स्थल पर फील्ड अस्पताल मेडिकल सहायता देते रहे। सोमवार की सुबह पहली रोशनी के साथ ही वायु सेना के विमान राहत बचाव टीम की सहायता कर रहे हैं। हिमस्खलन के खतरे का पता लगाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

 

09:35 AM, 08-FEB-2021


बड़ी सुरंग 70-80 मीटर तक साफ- अपर्णा कुमार, डीआईजी आईटीबीपी

आपदा प्रभावित तपोवन में राहत बचाव कार्य फिलहाल जारी है। डीआईजी आईटीबीपी अपर्णा कुमार ने बताया कि बड़ी सुरंग को 70 से 80 मीटर तक साफ कर दिया गया है। जेसीबी की मदद से मलबा हटाया गया है। यह सुरंग करीब 100 मीटर लंबी है और लगभग 30-40 कर्मचारी सुरंग में फंसे हुए हैं। उन्हें निकालने के प्रयास जारी हैं। दूसरी सुरंग की तलाश जारी है।

09:27 AM, 08-FEB-2021


राज्य उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत श्रीनगर पहुंचे

चमोली जिले के प्रभारी मंत्री और राज्य उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत श्रीनगर पहुंच चुके हैं। यहां से वह केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के साथ आपदा ग्रस्त इलाके का निरीक्षण करने के लिए रवाना होंगे।

उत्तराखंड में जरूरत पड़ने पर बचाव एवं राहत कार्यों में मदद देंगे : संरा महासचिव
चमोली में ग्लेशियर का एक हिस्सा टूट जाने के कारण ऋषिगंगा घाटी में अचानक आई भीषण बाढ़ में जानमाल के नुकसान पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनिया गुतारेस ने दुख जताया और कहा कि यदि जरूरत पड़ती है तो उत्तराखंड में जारी बचाव एवं राहत कार्यों में संगठन सहयोग देने के लिए तैयार है।

कांग्रेस सांसद मणीकम टैगोर ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है, ताकि उत्तराखंड में बाढ़ की चर्चा की जा सके।
 

 

 

09:00 AM, 08-FEB-2021


जोशीमठ में हवाई निरीक्षण कर लौट गया चिनूक

चमोली के रैणी गांव में तपोवन में अभी तक तीस मीटर तक सुरंग की खुदाई कर दी गई है। चिनूक हेलीकॉप्टर भी जोशीमठ में हवाई निरीक्षण कर लौट गया है।

वहीं चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद रात भर बिजनौर के लोगों की सांसे अटकी रहीं। यहां गंगा में जलस्तर नहीं बढ़ा। गंगा के सीमावर्ती गांव के लोगों को प्रशासन ने पहले ही अलर्ट कर दिया था। तमाम लोग गंगा किनारे से अपना सामान समेटकर सुरक्षित स्थानों पर चले गए थे। सभी को उम्मीद थी कि रात में गंगा का जलस्तर बढ़ेगा, लेकिन ऊपरी इलाकों से ही गंगा के पानी को नियंत्रित कर लिया गया। अभी गंगा में मात्र 7612 क्यूसेक पानी है।

08:40 AM, 08-FEB-2021


भारतीय वायु सेना ने शुरू किया बचाव कार्य

देहरादून से जोशीमठ में एमआई-17 और ALH हेलीकॉप्टरों के साथ हवाई बचाव और राहत मिशन फिर से शुरू हो गए हैं। यह जानकारी भारतीय वायु सेना ने दी।
 
 

08:28 AM, 08-FEB-2021


लगभग 30 लोग फंसे हुए हैं

आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडे ने कहा, 'हमने दूसरी सुरंग में खोज अभियान तेज कर दिया है। हमें जानकारी मिली है कि लगभग 30 लोग वहां फंसे हुए हैं। सुरंग को साफ करने के लिए लगभग 300 आईटीबीपी के जवान तैनात हैं। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि लगभग 170 लोग लापता हैं। आईटीबीपी ने कल एक सुरंग से 12 लोगों को बचाया, ये 30 लोग एक अलग सुरंग में फंसे हुए हैं। विभिन्न क्षेत्रों में बचाव अभियान चल रहा है। यदि आवश्यकता पड़ी तो और टीमें भेजी जाएंगी, हम पहले सुरंग से लोगों को बचाकर बाहर निकाल रहे हैं।'
 
 

08:23 AM, 08-FEB-2021


15 व्यक्तियों को किया गया रेस्क्यू

चमोली पुलिस ने कहा, टनल में फंसे लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य जारी। जेसीबी की मदद से टनल के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है। अब तक कुल 15 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है एवं 14 शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किए गए हैं।
 
 

08:16 AM, 08-FEB-2021


एसडीआरएफ ने शुरू किया बचाव कार्य

चमोली के तपोवन बांध के पास सुरंग पर एसडीआरएफ ने अपना बचाव अभियान शुरू कर दिया है।
 

 

08:10 AM, 08-FEB-2021


कैनाइन दस्ते को भी किया गया तैनात

चमोली में तपोवन बांध के पास तलाशी अभियान चलाने के लिए कैनाइन दस्ते को भी तैनात किया गया है। कल इस क्षेत्र में बाढ़ आ गई थी।
 
 

08:05 AM, 08-FEB-2021


तपोवन टनल से हटाया जा रहा है मलबा

सोमवार को तड़के साढ़े चार बजे से प्रभावित रैणी और तपोवन में राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया गया। तपोवन टनल से मलबा हटाया जा रहा है। दो सुरंगों में 50 लोग फंसे हैं।

07:57 AM, 08-FEB-2021


संयुक्त राष्ट्र आवश्यकता होने पर योगदान देने को है तैयार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता ने कहा, 'महासचिव को उत्तराखंड में ग्लेशियर के फटने और उसके बाद आई बाढ़ से हुए जानमाल के नुकसान और दर्जनों लोगों के लापता होने का गहरा दुख है। वह पीड़ितों के परिवारों, लोगों और भारत सरकार के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हैं। संयुक्त राष्ट्र आवश्यकता होने पर बचाव और सहायता प्रयासों में योगदान देने के लिए तैयार है।'
 
 

07:51 AM, 08-FEB-2021


एसडीआरएफ ने टनल के पास से हटाया मलबा

चमोली में तपोवन बांध के टनल के पास से मलबा और कीचड़ हटाकर एसडीआरएफ ने आगे के बचाव अभियान को अंजाम दिया। साइट से नवीनतम दृश्य। अभी तक आठ लोगों के शव बरामद किए गए हैं।
 
 

07:14 AM, 08-FEB-2021


शुरू हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन

आपदा से प्रभावित रैणी और तपोवन क्षेत्र में रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया है।  सुबह साढ़े 4 बजे से रेस्क्यू शुरू हो गया था। तपोवन टनल का मलबा हटाया जा रहा है
 

06:58 AM, 08-FEB-2021


डीआरडीओ एक्सपर्ट की एक टीम आज पहुंचेगी उत्तराखंड

चमोली हादसे के वक्त मैदानी इलाकों में बाढ़ जैसे हालत न पैदा हो जाए, इसलिए बांध के पानी को रोक दिया गया था। हालांकि, अब उसी बांध के पानी को बड़ी सावधानी से छोड़ा जा रहा है क्योंकि बांध के ऊपर झील में भी पानी जमा हो गया है। हालांकि, किसी भी खतरे से निपटने के लिए प्रशासन मुस्तैद है। आज डीआरडीओ एक्सपर्ट की एक टीम उत्तराखंड पहुंचेगी। ये टीम चमोली में हादसे वाली जगह का मुआयना कर स्थिति का आकलन करेगी। टीम आसपास के ग्लेशियरों का भी अध्ययन करेगी।

06:41 AM, 08-FEB-2021


टिहरी बांध से पानी छोड़ने का निर्देश

ग्लेशियर टूटने के बाद तपोवन के पास एक झील बन गई है। अब इस झील का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में जिलाधिकारी ने एहतियातन टिहरी बांध से पानी छोड़ने का निर्देश दिया है।

06:26 AM, 08-FEB-2021


मंदाकिनी नदी का जल स्तर कम होने का इंतजार

उत्तराखंड के चमोली में तपोवन बांध के पास सुरंग में फंसे लोगों को बचाने के लिए बचाव अभियान शुरू करने के लिए एसडीआरएफ के सदस्य मंदाकिनी नदी का जल स्तर कम होने का इंतजार कर रहे हैं।
 

06:22 AM, 08-FEB-2021


हमारी सहानुभूति उत्तराखंड के लोगों के साथ: जापान के राजदूत

भारत में जापान के राजदूत सातोशी सुजूकी ने कहा, उत्तराखंड में ग्लेशियर फटने के बड़े हादसे में कई निर्दोष लोगों की जान जाने और लापता होने के दुखद हादसे को लेकर मेरा हृदय बेहद दुखी है। मैं हार्दिक शोक जताता हुं और प्रार्थना करता हूं कि लापता लोगों को जल्द से जल्द बचा लिया जाएगा। हमारी सहानुभूति उत्तराखंड के लोगों के साथ है।

06:21 AM, 08-FEB-2021


हम मृतकों के परिवारों और दोस्तों के दुख में शामिल हैं: अमेरिका

अमेरिकी विदेश विभाग ने ट्वीट में कहा, हम भारत में ग्लेशियर फटने और भूस्खलन के कारण प्रभावित होने वाले लोगों के प्रति शोक प्रकट करते हैं। हम मृतकों के परिवारों और दोस्तों के दुख में शामिल हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। 

06:19 AM, 08-FEB-2021


हादसे पर वैश्विक नेताओं ने भी जताया दुख

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने के कारण आई बाढ़ से हुए नुकसान पर पूरी दुनिया के कई नेताओं ने दुख जताया है। विभिन्न देशों के नेताओं ने इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के साथ संवेदना भी जताई है। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट में कहा, फ्रांस उत्तराखंड राज्य में ग्लेशियर फटने के चलते 100 से ज्यादा लोगों के लापता होने के बाद पूरी तरह भारत के साथ एकजुट होकर खड़ा है। हमारी संवेदनाएं लापता लोगों और उनके परिजनों के साथ हैं। 

01:08 AM, 08-FEB-2021


सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का काम जारी

चमोली के तपोवन में सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का काम जारी है लेकिन जल स्तर बढ़ने से बचाव कार्यों में बाधा आ रही है। मलबा हटाने के लिए भारी मशीनें मंगवाई गई हैं। 

 

01:02 AM, 08-FEB-2021


नेपाल के विदेश मंत्रालय ने घटना को लेकर चिंता जताई

उत्तराखंड में आई ग्लेशियर आपदा के बीच नेपाल के विदेश मंत्रालय ने घटना को लेकर अपनी चिंता प्रकट की है। मंत्रालय ने कहा है कि हम आपदा में लापता लोगों की सुरक्षा की कामना करते हैं। 

11:42 PM, 07-FEB-2021


अलकनंदा का जलस्तर बढ़ा, जिले में अलर्ट जारी

जिला चमोली के जोशीमठ-तपोवन में धौलीगंगा में ग्लेशियर टूटने के बाद बढ़े पानी के सैलाब के कारण रुद्रप्रयाग में अलकनंदा का जल स्तर एक मीटर बढ़ा है। जल स्तर अधिक बढ़ने की संभावना को देखते हुए प्रशासन ने जिले में अलर्ट जारी कर दिया है।

11:41 PM, 07-FEB-2021


सुबह 6.45 बजे जाएंगे विशेषज्ञ कर्मचारी

भारतीय वायु सेना के पीआरओ विंग कमांडर इंद्रनील नंदी ने बताया कि दिल्ली से एयरलिफ्ट किए गए सभी विशेषज्ञ कर्मचारी देहरादून पहुंच गए हैं। देहरादून से इन कार्मिकों को वायुसेना के विमान से प्रभावित क्षेत्रों में सुबह 6:45 बजे भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि विशेष उपकरणों के साथ वैज्ञानिकों को भी हवाई टोही के लिए क्षेत्रों में ले जाया जाएगा। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि परिचालन में कोई समस्या नहीं आए। 

11:37 PM, 07-FEB-2021


मुख्यमंत्री ने की अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील

जोशीमठ में हुए बड़े हादसे के बाद सोशल मीडिया पर पुरानी व फेक वीडियो और फोटो से माहौल खराब न हो इसके लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की। सीएम रावत ने ट्विट कर लोगों से अपील की कि कोई भी पुरानी वीडियो शेयर कर अफवाह न फैलाएं।

11:36 PM, 07-FEB-2021


पूरी क्षमता से किया जा रहा राहत और बचाव कार्यः मुख्यमंत्री

उत्तराखंड के चमोली जिले के रैणी में आई आपदा को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि बचाव और राहत कार्य सरकार की पहली प्राथमिकता है, इसमें पूरी क्षमता से काम किया जा रहा है।

11:33 PM, 07-FEB-2021


रातभर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा

डीजीपी अशोक कुमार ने जोशीमठ में पत्रकारों से वार्ता में कहा कि रैणी में 2 पुलिस कर्मी सहित 27 लोग मिसिंग हैं। जबकि तपोवन परियोजना में 150 लोग काम कर रहे थे, जिनमें से 7 लोगों की बॉडी बरामद कर ली गई है। कितने लोग प्रभावित क्षेत्र से मिसिंग हैं, इसका अभी डाटा उपलब्ध नहीं है, तपोवन परियोजना की 900 मीटर लंबी टनल में मलबा घुसा है, उसे खोलने का काम चल रहा है। 150 मीटर तक टनल खोल दी गई है। रातभर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा। सोमवार तक पूरी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

11:29 PM, 07-FEB-2021


चमोली आपदा: लापता 202 लोगों में से पांच लोग खुद आए वापस, 197 लोगों की तलाश जारी

उत्तराखंड के चमोली में रविवार को ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया। इसमें कई लोगों की जान चली गई। वहीं चमोली जिला प्रशासन ने आठ शव मिलने की पुष्टि की है। बताया जा रहा है अभी भी 125 से अधिक लोग लापता हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन रात में भी जारी है। नुकसान का आकलन जारी है, जबकि कारण भी पता लगाया जा रहा है। वहीं, आपदा में मृतकों के परिवार को छह-छह लाख रुपये देने की घोषणा की है, जिसमें राज्य सरकार चार और केंद्र सरकार दो लाख रुपये की सहयोग राशि देगी।

Text


Source