माघ पूर्णिमा 2021: गंगा स्नान आज, रात में ही हरिद्वार पहुंचे तीन लाख श्रद्धालु, खुफिया एजेंसियां अलर्ट सार

माघ पूर्णिमा स्नान के लिए हरिद्वार पहुंचे लाखों श्रद्धालु
माघ पूर्णिमा स्नान के लिए हरिद्वार पहुंचे लाखों श्रद्धालु

 आज होने वाले माघ पूर्णिमा स्नान के लिए शुक्रवार को ही श्रद्धालुओं का हरिद्वार पहुंचना शुरू हो गया था। आईजी कुंभ का दावा है कि शुक्रवार की देर रात तक तीन लाख के करीब श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच चुके थे। मेला क्षेत्र में कुंभ पुलिस ने 12 से ज्यादा छोटी-बड़ी पार्किंग बनाई हैं। शुक्रवार शाम तक छोटी पार्किंग भर गई थी । इसके बाद वाहनों को बड़ी पार्किंग में भेजा गया। 



गंगा स्नान के लिए प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। गंगा के प्रमुख घाटों के साथ मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई है। हरकी पैड़ी समेत सभी प्रमुख घाटों पर कड़ी चौकसी रहेगी। खुफिया एजेंसियां भी पूरा दिन अलर्ट रहेंगी।



माघ पूर्णिमा 2021: सोमवार को इस समय स्नान और दान करना होगा फलदायी, ये हैं दो शुभ मुहूर्त...


माघी पूर्णिमा पर गंगा स्नान का विशेष महत्व है। स्नान के लिए उत्तर भारत के राज्यों से लाखों श्रद्धालुओं के हरिद्वार पहुंचने की संभावना है। इसको लेकर जिला, मेला और पुलिस प्रशासन ने सभी तैयारियां कर ली हैं। माघी पूर्णिमा के दिन चंद्रमा अपनी पूर्ण कलाओं के साथ उदित होता है। हिंदू धर्म में इसका विशेष महत्व है। गंगा समेत अन्य पवित्र नदियों में स्नान कर दान करने से पुण्य फलों की प्राप्ति होती है।


शनिवार को होने वाले स्नान के लिए शुक्रवार रात से ही श्रद्धालु हरिद्वार पहुंचने शुरू हो गए थे। पूर्णिमा की सुबह तड़के से हरकी पैड़ी समेत गंगा घाटों पर स्नान शुरू हो जाएगा। 


माघ पूर्णिमा 2021: कुंभ के दौरान पूर्णिमा पर 100 साल से पड़ रहा ये संयोग, इस बार भी खास होगा स्नान 


नौ जोन और 23 सेक्टरों में बांटा मेला क्षेत्र 

माघ पूर्णिमा के स्नान को लेकर कुंभ मेला पुलिस ने हरिद्वार कुंभ मेला क्षेत्र को नौ जोन और 25 सेक्टरों में बांटा है। इनमें एक सेक्टर जीआरपी व यातायात का भी बनाया गया है। इसके साथ ही ड्यूटी लगा दी गई है। प्रत्येक जोन में प्रभारी अधिकारी के रूप में अपर पुलिस अधीक्षक और सेक्टरों में पुलिस उपाधीक्षक को नियुक्त किया गया है। 


श्रद्धालुओं की होगी रैंडम सैंपलिंग

माघ पूर्णिमा स्नान पर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की बॉर्डर एवं मेला क्षेत्र में कोरोना की रैंडम सैंपलिंग होगी। एंटीजन जांच के लिए पचास टीमें लगाई जाएंगी। कोविड के नए स्ट्रेन से प्रभावित पांच राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं पर अधिक फोकस रहेगा। प्रशासन ने श्रद्धालुओं से कोविड की 72 घंटे पहले कि आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाने की अपील भी की है। मेला क्षेत्र में 100 एंबुलेंस गंभीर बीमारों और कोविड पॉजिटिव को आइसोलेशन सेंटर तक पहुंचाने के लिए तैनात होंगी।

स्नान के दौरान लापरवाही बर्दाश्त नहीं : गुंज्याल 

माघ पूर्णिमा स्नान को लेकर कुंभ आईजी संजय गुंज्याल ने पुलिस कर्मियों को ब्रीफ किया। उन्होंने कहा कि सभी पुलिसकर्मियों को स्नान शुरू होने से खत्म होने तक अलर्ट रहना है। उन्होंने उम्मीद जताई कि वीकेंड के चलते दो दिन बाहरी राज्यों से बड़ी संख्या में लोग आ सकते हैं। 


भल्ला कॉलेज के स्टेडियम में अस्थायी कुंभ पुलिस लाइन में आईजी संजय गुंज्याल और अन्य पुलिस अधिकारियों ने ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों एवं अर्द्धसैनिक बलों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।


आईजी कुंभ संजय गुंज्याल ने कहा कि लगभग सभी अखाड़ों की पेशवाई सज चुकी हैं। माघ पूर्णिमा से कुंभ का आरंभ माना जाता है। परिस्थितियों के अनुसार जो भी ट्रैफिक डायवर्जन लागू किए जाए। सभी सेक्टर इंचार्ज हर दो घंटे में अपने-अपने ड्यूटी प्वाइंट की स्थिति मेला कंट्रोल रूम को बताएं। जिलाधिकारी सी रवि शंकर ने कहा कि अभी तक हुए स्नानों ने शाही स्नानों को कराने के अभ्यास का मौका दिया है।


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने कहा कि छोटी लापरवाही समस्या खड़ी कर सकती है।  एसएसपी कुंभ जन्मेजय खंडूरी ने कहा कि इस स्नान पर्व पर पिछले 3 स्नानों से ज्यादा श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। पुलिस उपाधीक्षक संचार रेवाधर मठपाल ने आपसी संपर्क के लिए स्थापित किए रेडियो ग्रिड व्यवस्था के बारे में बताया। 


Source