-->

नेपाल ने शर्तों के साथ भारतीयों के लिए खोली सीमा, नहीं जा पाएंगे निजी वाहन

आखिरकार 11 माह बाद भारत-नेपाल सीमा सशर्त खुल गई है। इससे आवश्यक कार्य से नेपाल जाने वालों ने राहत की सांस ली है। अलबत्ता नेपाल प्रशासन ने कुछ शर्तों

बनबसा में भारत-नेपाल सीमा का अधिकारियों के साथ निरीक्षण करते डीएम विनीत तोमर
बनबसा में भारत-नेपाल सीमा का अधिकारियों के साथ निरीक्षण करते डीएम विनीत तोमर

 आखिरकार 11 माह बाद भारत-नेपाल सीमा सशर्त खुल गई है। इससे आवश्यक कार्य से नेपाल जाने वालों ने राहत की सांस ली है। अलबत्ता नेपाल प्रशासन ने कुछ शर्तों के साथ सीमा खोली है। शर्तों का पालन करना आम भारतीय नागरिकों के लिए बेहद पेचीदा है। फिलहाल भारतीय निजी वाहनों को नेपाल में प्रवेश की इजाजत नहीं है।


एसडीएम हिमांशु कफल्टिया ने बताया कि उनकी नेपाल के सीडीओ (जिलाधिकारी) से वार्ता हुई है। इसमें नेपाल प्रशासन ने सीमा खोल देने की बात कही है। बताया गया कि बनबसा और टनकपुर सीमा को नेपाल प्रशासन ने खोल दिया है, लेकिन नेपाल सरकार ने कुछ शर्तें रखी हैं। अभी भारतीय प्राइवेट वाहनों के नेपाल प्रवेश पर रोक रहेगी।



ट्रांसपोर्ट या सामान ले जाने वाले वाहनों को जाने की अनुमति रहेगी। बीमार और अत्यंत आवश्यक कार्य से जाने वाले वाहनों को भी छूट मिलेगी, जिसे नेपाल प्रशासन तय करेगा। नेपाल जाने वाले भारतीय नागरिकों को कोविड रिपोर्ट दिखानी होगी या टेस्ट कराना होगा। बनबसा से नेपाल के प्रवेश द्वार गड्डा चौकी में लोगों को नेपाल जाने के लिए पंजीकरण फार्म भरना होगा। फार्म भरने में नेपाल की सुरक्षा एजेंसी एपीएफ लोगों की मदद करेगी।


एसडीएम ने बताया कि नेपाली डीएम ने बताया कि टनकपुर सीमा से नेपाल प्रवेश के लिए भी उक्त शर्तों का पालन करना होगा। केवल पूर्णागिरि मेले के दौरान ब्रह्मदेव स्थित सिद्धनाथ बाबा के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना जांच के बिना भी जाने दिया जाएगा। वे मंदिर के दर्शन कर भारत लौटेंगे।

Source

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं


(सभी उत्तराखंड समाचार, ब्रेकिंग न्यूज हिंदी में और नवीनतम समाचार अपडेट Uttarakhand Hindi News पर प्राप्त करें।)
दैनिक समाचार अपडेट और लाइव उत्तराखंड हिंदी समाचार प्राप्त करने के लिए Uttarakhand News notification को सबस्क्राइब करे !!