उत्तराखंड में कोरोना : राज्य और जिलों में आवाजाही पर जल्द लग सकती है रोक, सख्त फैसला लेने की तैयारी में सरकार

 

प्रदेश में अब जिलों के बीच आवाजाही पर सशर्त रोक लगाने की तैयारी
प्रदेश में अब जिलों के बीच आवाजाही पर सशर्त रोक लगाने की तैयारी

कोविड के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए प्रदेश में अब जिलों के बीच आवाजाही पर सशर्त रोक लगाने की तैयारी है। इसी तरह राज्य में आने और राज्य से बाहर जाने पर भी रोक लग सकती है। तीन जिलों में कोविड कर्फ्यू की मियाद 10 मई की सुबह पांच बजे समाप्त हो रही है और इसके बाद सरकार इन सख्त कदमों को उठा सकती है। 


सरकार पर इस समय सख्त कदम उठाने का दबाव है। लॉकडउन से बच रहे मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने विवाह समारोहों और अन्य आयोजनों से दूर रहने की अपील कर इसका संकेत भी दिया। सूत्रों के मुताबिक कोविड कर्फ्यू के अगले चरण में प्रदेश सरकार अब आवाजाही को नियंत्रित करने की कोशिश में है।


उत्तराखंड मे कोरोना : कोविड रोकथाम को लेकर 10 मई को बड़ा फैसला लेगी सरकार - सुबोध उनियाल

 

बाजार खुलने के समय को और कम किया जा सकता है

वहीं, अब प्रदेश सरकार की ओर से कोविड कर्फ्यू को और अधिक सख्त करने की भी तैयारी है। इसके तहत बाजार खुलने के समय को और कम किया जा सकता है। सप्ताह में दो दिन ही बाजार खोलने पर विचार किया जा रहा है। वहीं, कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी और दून शहर के अन्य विधायकों ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मुलाकात की।


उन्होंने कहा कि जिस तरह के हालात हैं, उनमें सरकार को संपूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार करना चाहिए। अब सरकार सोमवार या अधिकतम मंगलवार तक अपनी नई योजना पर अमल कर सकती है।


कोरोना संक्रमण के मामले जिस तरह से बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए सख्त कदम उठाने की पूरी तैयारी है। इसके कौन-कौन से तरीके होंगे और किस तरह से उन्हें लागू किया जाएगा, इस पर विचार किया जा रहा है। प्रदेश सरकार की कोशिश है कि हर कीमत पर संक्रमण को और अधिक फैलने से रोका जाए। 

-सुबोध उनियाल, शासकीय प्रवक्ता और कृषि मंत्री

Source


0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

Post a Comment (0)

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें