उत्तराखंड : एक बार फिर टीकाकरण को मिलेगी गति, कोविशील्ड की एक लाख डोज आज पहुंचेंगी दून

कोविशील्ड की एक लाख डोज शुक्रवार को देहरादून पहुंचेंगी
कोविशील्ड की एक लाख डोज शुक्रवार को देहरादून पहुंचेंगी 

 टीके की डोज जिलों को मिलने के साथ ही एक बार फिर टीकाकरण को गति मिलेगी। कोविशील्ड की एक लाख डोज शुक्रवार को देहरादून पहुंचेंगी। टीका देहरादून पहुंचने के बाद जिलों को बांट दिया जाएगा। 



उत्तराखंड में कोरोना: मरीज बढ़े तो कुमाऊं में एक महीने में ही बिक गई पांच करोड़ की पैरासिटामोल



राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. कुलदीप मर्तोलिया ने बताया कि कोविशील्ड की एक लाख डोज आ रही है। शुकवार की दोपहर तीन बजे तक टीका पहुंचने की संभावना है। सभी जिलों को सूचित कर दिया गया है। टीके की डोज आने के साथ ही जिलों को बांट दी जाएगी।


ब्लैक फंगस: उत्तराखंड में तैयार होगी ब्लैक फंगस की दवा, दो फैक्ट्रियों में होगा उत्पादन


उन्होंने बताया कि यह 45 वर्ष और अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए होगी। जबकि 24 और 29 मई को कोवैक्सीन की पचास-पचास हजार डोज मिलेंगी। यह भी 45 वर्ष और अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए होगी। 


दूसरी ओर जिले नैनीताल जिले में 45 वर्ष और अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए कोविशील्ड की 400 डोज बची हैं। जबकि 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए कोविशील्ड की 9890 डोज बची हैं। 45 वर्ष और अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए कोवैक्सीन की 24 सौ डोज बची हैं। 


जिला        -        इतनी डोज मिलेगी  


अल्मोड़ा      -       5000 

बागेश्वर       -        3000 

चंपावत        -       5500

नैनीताल      -        15000

पिथौरागढ़     -       7500

यूएस नगर    -  12000

ऐसे तो दिसंबर से पहले लग चुका सभी को कोरोना का टीका 

उतराखंड समेत देश के तमाम राज्यों में फैली कोरोना महामारी को काबू करने को लेकर जहां केंद्र सरकार अधिक से अधिक टीकाकरण किए जाने पर जोर दे रही है। राजधानी समेत पूरे जिले में टीकाकरण की रफ्तार बेहद धीमी है। वैसे तो टीकाकरण को लेकर देहरादून जिले में नौ लाख से अधिक लाभार्थियों द्वारा टीकाकरण को लेकर पंजीकरण कराया जा चुका है। लेकिन प्रतिदिन स्लॉट की संख्या बेहद कम है, जिसकी वजह से तमाम दिक्कतें आ रही हैं।


ऐसे में अब जिले में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाए जाने पर विचार विमर्श कर किया जा रहा है। यदि ऐसा किया जाता है तो टीकाकरण करवाने वाले लोगों को स्लॉट बुक में परेशानी नहीं आएगी। कोविन टीकाकरण अभियान के जिला नोडल अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने बताया कि अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण किया जा सके इसे लेकर तमाम कदम उठाए गए हैं।


फिलहाल जिले में नौ से अधिक लाभार्थियों द्वारा टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराया गया है। जबकि स्लॉट की संख्या काफी कम है, ऐसे में लोगों का जल्द से जल्द टीकाकरण किया जा सके इसके लिए केंद्रों की संख्या बढ़ाए जाने पर विचार विमर्श किया जा रहा है।


जिला नोडल अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने बताया कि गुरुवार को 18 से 44 वर्ष के 2090 लोगों का टीकाकरण किया गया। 45 साल से अधिक 360 लोगों को टीका लगाया गया। इस लिहाज से पूरे जिले में 2450 लोगों का टीकाकरण किया गया।


फिलहाल जिले के 13 टीकाकरण केंद्रों पर टीका लगाया जा रहा है। जिला नोडल अधिकारी ने बताया कि टीकाकरण के लिए स्लॉट प्रतिदिन शाम चार बजे अनिवार्य रूप से खोले जा रहे हैं। साथ ही उन्होंने अनुरोध किया है कि जिन लोगों को स्लॉट आवंटित हो रहे हैं, वे अनिवार्य रूप से निश्चित दिन और केंद्र पर पहुंचकर टीकाकरण कराएं ताकि खुद को कोरोना संक्रमण से बचा सके।

Source

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें