उत्तराखंड में कोरोना: 24 घंटे में 8006 मरीज हुए ठीक, 3658 नए संक्रमित मिले

कोरोना वायरस की जांच - फोटो : Pixabay
कोरोना वायरस की जांच - फोटो : Pixabay

 उत्तराखंड में बृहस्पतिवार को 24 घंटे के भीतर जहां 3658 कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए। वहीं 8006 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली। प्रदेश में 24 घंटे में 80 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई हैं। जबकि इससे पूर्व 79 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। कुल मिलाकर पिछले कुछ दिनों में 159 संक्रमितों की मौत रिकॉर्ड की गई।



स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक, बृहस्पतिवार के 3658 नए केस मिलाकर अब प्रदेश में 68,643 कोरोना के एक्टिव केस रह गए हैं। अब तक प्रदेश में कुल तीन लाख तीन हजार 940 कोरोना संक्रमित सामने आए हैं, जिनमें से दो लाख 24 हजार 535 ने कोरोना से जंग जीत ली है।



उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू : 21 मई को अब सुबह सात से दोपहर 12 बजे तक खुलेंगी राशन और परचून की दुकानें


बृहस्पतिवार को सामने आए कोरोना के नए मामलों में अल्मोड़ा के 182, बागेश्वर के 278, चमोली के 205, चंपावत के 93, देहरादून के 566, हरिद्वार के 548, नैनीताल के 414, पौड़ी के 151, पिथौरागढ़ के 189, रुद्रप्रयाग के 143, टिहरी के 315, ऊधमसिंह नगर के 503 और उत्तरकाशी के 71 मामले शामिल हैं। 

प्रदेश में 558 कंटेनमेंट जोन 

प्रदेश में इस वक्त 558 कंटेनमेंट जोन हैं। इनमें अल्मोड़ा में 21, बागेश्वर में दो, चमोली में 16, चंपावत में 38, देहरादून में 119, हरिद्वार में 48, नैनीताल में 55, पौड़ी में 21, पिथौरागढ़ में नौ, रुद्रप्रयाग में 24, टिहरी में 57, ऊधमसिंह नगर में 55 और उत्तरकाशी में 93 कंटेनमेंट जोन शामिल हैं।


दून में सर्वाधिक 3155 मरीज हुए 24 घंटे में ठीक 

बृहस्पतिवार को प्रदेश में 8006 मरीज कोरोना से जंग लड़कर स्वस्थ हो गए। इनमें अल्मोड़ा के 275, बागेश्वर के 78, चमोली के 152, चंपावत के 300, देहरादून के 3155, हरिद्वार के 1644, नैनीताल के 783, पौड़ी के 761, पिथौरागढ़ के 109, रुद्रप्रयाग के 157, टिहरी के 355, ऊधमसिंह नगर के 212 और उत्तरकाशी के 25 मरीज शामिल हैं। 


15 हजार से ज्यादा को दी गई वैक्सीन

बृहस्पतिवार को प्रदेश में 15 हजार 959 लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी गई। इसी के साथ अब तक प्रदेश में 20 लाख 20 हजार 559 लोगों को कोरोना की पहली वैक्सीन दी जा चुकी है। जबकि छह लाख 80 हजार 330 लोगों को कोरोना की दोनों वैक्सीन दी जा चुकी है। 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग में अभी तक एक लाख 89 हजार 583 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। 

पर्यारवरणविद सुंदरलाल बहुगुणा को हुआ कोविड निमोनिया

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में भर्ती 94 वर्षीय पर्यावरणविद सुंदलाल बहुगुणा को कोविड निमोनिया हुआ है। सिपेप मशीन सपोर्ट पर उनका ऑक्सीजन सेचूरेशन लेवल 86 फीसदी पर आ गया है। चिकित्सक उनके ब्लड शुगर लेवल और ऑक्सीजन लेवल को मेंटेन करने में जुटे हैं।   


एम्स ऋषिकेश के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि सुंदरलाल बहुगुण को कोविड निमोनिया हुआ है। उन्होंने बताया कि उनको सिपेप ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। सिपेप सपोर्ट के बाद उनका ऑक्सीजन लेवल फिलहाल 86 फीसदी पर है।


उन्होंने बताया कि वह डायबिटीज के मरीज हैं। थपलियाल ने बताया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने इलेक्ट्रोलाइट्स और लीवर फंक्शन टेस्ट के बाद उनके ब्लड शुगर की जांच और निगरानी की सलाह दी है। चिकित्सकों की टीम उनके स्वास्थ्य पर निगरानी बनाए हुए है। 

Source

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें