उत्तराखंड : एंबुलेंस चालक में गजब का हौसला, तनाव कम करने के लिए पीपीई किट में ही बरात में लगाए ठुमके

सुबह से देर रात तक जो व्यक्ति लगातार एंबुलेंस चलाए। कोविड मरीजों को घर से अस्पताल और अस्पताल से घर पहुंचाए। श्मशान घाट में अंतिम संस्कार में सहयोग करे

असली कोरोना योद्धा - महेश पांडे
असली कोरोना योद्धा - महेश पांडे

 सुबह से देर रात तक जो व्यक्ति लगातार एंबुलेंस चलाए। कोविड मरीजों को घर से अस्पताल और अस्पताल से घर पहुंचाए। श्मशान घाट में अंतिम संस्कार में सहयोग करे। पीपीई किट ही जिसकी वर्दी बन गई हो और परिवार के लिए उसके पास समय न हो। इसके बाद भी हंसते, गाते वह अपने काम में व्यस्त हो, वही असली कोरोना योद्धा है। इनका नाम है महेश पांडे। 





महेश पांडे की एंबुलेंस को प्रशासन की ओर से अधिगृहीत किया गया है। एक साल से वह मरीजों को लाने और पहुंचाने के काम में जुटे हैं। वह मंगलवार को उस समय चर्चा में आए जब सोमवार देर रात उन्होंने अपनी एंबुलेंस खड़ी कर रामपुर रोड पर चल रही बरात में ठुमके लगाए। हालांकि पीपीई किट पहने व्यक्ति के अचानक नाच करने से लोग थोड़ा सकुचाए मगर महेश थोड़ी देर बाद चले गए। यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है।


उत्तराखंड: पहली बार 24 घंटे में 96 मरीजों की मौत, 5703 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस 43 हजार पार


महेश से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह खुद को निराशा से बाहर निकालने के मौके ढूंढते हैं। 14 साल से इस पेशे में हैं। घर में दो छोटे बच्चे हैं। तनाव होता है तो इसी तरह खुद को बहलाते हैं इससे मन हल्का हो जाता है। महेश के अनुसार इस बीच तो दिनभर में 25 से अधिक मरीजों को लाने और ले जाने का काम करना पड़ रहा है। यही नहीं वह अपनी एंबुलेंस में दो-दो शव लेकर श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार भी करा रहे हैं। 

तनाव के बावजूद सेवाभाव का जोश 

नगर स्वास्थ्य अधिकारी का पद बेहद जिम्मेदारी भरा है और कोविडकाल में सेवा और जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ जाती है । इन दिनों नगर निगम के पास मदद के लिए हर रोज 150 से 200 कालें आ रही हैं। 


 नगर स्वास्थ्य अधिकारी मनोज कांडपाल ने अमर उजाला को बताया इस बार पिछले वर्ष की तुलना में ज्यादा दबाव है। विशेषकर गली, मोहल्लों को सैनेटाइज करना चुनौती भरा है। क्योंकि हर मोहल्ले, गलियों या वार्डों से हर रोज 150 से 200 कालें सैनिटाइजेशन के लिए आ रही हैं। लोगों का विश्वास कम न हो और लोग तनाव में न रहें, इसलिए स्वास्थ्य टीम सभी फोन कॉल वाली जगहों पर सैनिटाइजेशन के लिए जा रही है।


मंगलवार को स्वयं उनके नंबर पर 60 से 70 कालें आईं। नगर स्वास्थ्य विभाग की टीम सुबह 7.30 से रात 11 बजे तक काम पर जुटी हुई है। सैनिटाइजेशन के लिए 20 कर्मचारी लगाए गए हैं। 650 कर्मचारी सफाई व्यवस्था देख रहे हैं। कर्मचारियों को तनाव से बचाने के लिए हर रोज उनसे वार्ता की जाती है।

60 वार्डों में वायरस नष्ट करने के लिए दवा का छिड़काव

वर्तमान में नगर निगम के 60 वार्डों में वायरस नष्ट करने के लिए दवा का छिड़काव किया जा रहा है। कूड़े गाड़ियों के माध्यम से जागरूकता फैला रहे हैं। प्रत्येक वार्ड के लिए 20-20 फ्लेक्सी तैयार की जा रही हैं, जिसमें रजिस्ट्रेशन से लेकर डॉक्टरों के नंबर, कोरोना जांच कहां कराएं, क्या सावधानी बरतें, रिपोर्ट किस पोर्टल से मिलेगी यह सब जानकारी दी जा ही है।


नवनीत निशुल्क एन-95 मास्क बांटने में जुटे


रेडक्रास की आपदा प्रबंध समिति के अध्यक्ष नवनीत राणा ने मंगलवार को मुखानी और आसपास के इलाकों में 130 लोगों और जरूरतमंदों को करीब  निशुल्क एन-95 मास्क वितरित किए।


यह मास्क मुखानी स्थित आदित्य मेडिकल स्टोर की ओर से उपलब्ध कराए गए थे। नवनीत राणा ने कहा कि मास्क वितरण और सैनिटाइजेशन का काम जारी रखा जाएगा। मास्क वितरण और सैनिटाइजेशन के काम में रेडक्रास के पदाधिकारी कार्तिक हरबोला, पवन वर्मा, प्रज्ञान शर्मा, नवीन, रोहित, रोहिल आदि शामिल रहे।

कोरोना संक्रमित 35 की मौत, 848 नए केस मिले

हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में चौबीस घंटों के भीतर कोविड पॉजिटिव 35 मरीजों की मौत हो गई। मार्च 2020 से लेकर अप्रैल 2021 तक मौत का यह आंकड़ा सर्वाधिक है। मंगलवार को जिले में रिकार्ड 848 कोविड पॉजिटिव नए केस सामने आए। हालांकि कोविड से जंग जीतने वाले 45 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया गया है।


एसटीएच के एमएस डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि कोविड पॉजिटिव 384 मरीज भर्ती हैं और 120 की हालत गंभीर है। सात को आइसोलेशन में रखा गया है। मृतकों में हल्द्वानी निवासी 15 लोग शामिल हैं। 27 वर्षीय युवक की भी मौत हुई है। अल्मोड़ा, रामनगर और पिथौरागढ़ के तीन-तीन, दिल्ली निवासी 59 वर्षीय व्यक्ति ने भी दम तोड़ दिया। 


जिला    - पॉजिटिव केस 

अल्मोड़ा  -  189

बागेश्वर   -    44

चंपावत    -  58

नैनीताल  -   848

पिथौरागढ़  -  98

यूएस नगर - 397

Source

एक टिप्पणी भेजें

Cookie Consent
हम ट्रैफ़िक का विश्लेषण करने, आपकी प्राथमिकताओं को याद रखने और आपके अनुभव को अनुकूलित करने के लिए इस साइट पर कुकीज़ प्रदान करते हैं।
Oops!
ऐसा लगता है कि आपके इंटरनेट कनेक्शन में कुछ गड़बड़ है। कृपया इंटरनेट से कनेक्ट करें और फिर से ब्राउज़ करना शुरू करें।
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.
Site is Blocked
Sorry! This site is not available in your country.