Corona In Uttarakhand: सोमवार को 51 संक्रमित मिले, चार की मौत, 1081 हुई एक्टिव केस की संख्या

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक

 उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों के मामले थमे है। बीते 24 घंटे में 51 संक्रमित मिले हैं, जबकि चार मरीजों की मौत हुई है। वहीं, सक्रिय मरीजों की संख्या घट कर 1081 पहुंच गई है। कुल संक्रमितों का आंकड़ा 96180 हो गया है। 



स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को 7700 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। देहरादून जिले में 27, हरिद्वार में 09, नैनीताल में 08, अल्मोड़ा में दो, उत्तरकाशी और चमोली में एक-एक, ऊधमसिंह नगर में 03 संक्रमित मिले हैं। वहीं, पौड़ी , पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, चमोली, चंपावत व टिहरी जिले में कोई नया संक्रमित नहीं मिला है। 



प्रदेश में अब तक 1648 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, 139 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर 92105 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 

मुनिकीरेती में जीएमवीएन गंगा रिसोर्ट में बना नया वैक्सिनेशन सेंटर 

ऋषिकेश में नगर पालिका ढालवाला मुनिकीरेती क्षेत्र के अंतर्गत जीएमवीएन गंगा रिसार्ट के मीटिंग हॉल को शनिवार को विशेष तौर पर सजाया गया था। पहली नजर में ऐसा लग रहा था मानों यहां कोई बर्थडे पार्टी हो। लेकिन यहां कोई पार्टी नहीं थी, बल्कि नया कोविड वैक्सिनेशन सेंटर बनाया गया था। जहां शनिवार को पहले दिन 59 हेल्थ वर्कर को कोविड का टीका लगाया गया। 


गंगा रिजार्ट स्थित कोविड वैक्सिनेशन सेंटर को सुंदर गुब्बारों और रंगबिरंगे रिबन से सजाया गया था। ताकि कोविड का टीका लगवाने वाले लोगों को एक सुखद माहौल का अहसास हो। यहां रजिस्ट्रेशन के बाद बारी-बारी से हेल्थ वर्कर ने टीका लगवाया। टीका लगवाने के बाद हॉल में करीब आधे घंटे बैठकर आराम करने के लिए अलग व्यवस्था की गई थी।


इसके अलावा किसी को यदि चक्कर आदि की शिकायत पर उसके लिए बैड की व्यवस्था की गई थी। चिकित्सा प्रभारी फकोट ब्लाक डा. जगदीश जोशी ने बताया कि वैक्सिन लगवाने आने वाले लोगों को एक सुंदर माहौल का अहसास हो, इसलिए वैक्सिनेशन सेंटर को विशेष तौर पर सजाया गया है।


सेल्फी प्वाइंट बना आकर्षण का केंद्र

कोविड वैक्सिनेशन सेंटर पर वैक्सिन लगवाने के बाद हेल्थ वर्कर ने बाहर लगे सेल्फी बोर्ड में सेल्फी ली। जिसमें संदेश लिखा हुआ था कि उन्होंने कोविड वैक्सिन की पहली डोज ले ली है और वे खुश हैं। यहां वैक्सिनेशन सेंटर पर सेल्फी लेने वालों की होड़ लगी रही। इसके अलावा पोस्टर-बैनर के जरिए संदेश दिया गया कि वैक्सिनेशन के बाद कोविड के खात्मे की शुरूआत हो चुकी है। इन पोस्टर के आगे भी लोगों ने वैक्सिनेशन के बाद खूब फोटो खिंचवाई। 


74 स्वास्थ्यकर्मियों को लगे कोरोना वैक्सीन के टीके 

एसपीएस राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में सोमवार को 74 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वैक्सीन के टीके लगे। हेल्थ सुपरवाइजर डा. एसएस यादव ने बताया कि कोरोना वैक्सीन टीकाकरण में सरकारी अस्पताल, सीमा डेंटल कॉलेज और निर्मल अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मी शामिल थे। कोरोना वैक्सीन लगने पर एसपीएस राजकीय चिकित्सालय के चिकित्सक ने इस तरह अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। एसपीएस राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डा. संतोष कुमार पंत ने कहा कि समस्त नागरिकों से निवेदन है कि अपना-अपना नंबर आने पर अपना वैक्सीनेशन आवश्यक कराएं। अपने परिवार, समाज और अपने देश को वैक्सीनेशन के प्रति उत्साहित करें। अपने वैज्ञानिकों का उत्साहवर्धन करें व देश का सम्मान करें, यह वैक्सीन समस्त मानवजाति के लिए कल्याणकारी है।

कोरोना योद्धा के रूप में किया सम्मानित

जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्साधीक्षक डॉ. राजेश गुप्ता को कोविड-19 के कठिन दौर में की गई सेवा पर उत्तरांचल (पर्वतीय) कर्मचारी-शिक्षक संगठन ने उन्हें कोरोना योद्धा के रूप में सम्मानित किया। 

संगठन के जिलाध्यक्ष कृष्ण चंद्र शर्मा, जिला महामंत्री ललित मोहन जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद कांत भट्ट, संगठन मंत्री मनोज चंद, प्रवक्ता एसपी चमोली, कला शिक्षक मंच के जिला सहसंयोजक विकास शर्मा, पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन के जिला महामंत्री शेखर जोशी, उमेश सैनी, सुशील लखेड़ा, रूपेश कुमार, संजीव जोशी ने सम्मानित किया।


सेना भर्ती के लिए कोरोना जांच जरूरी

पिथौरागढ़ जिले के युवाओं की थल सेना भर्ती रानीखेत में 15 से 22 फरवरी तक होगी। सेना भर्ती निदेशक ने बताया कि सेना भर्ती में प्रत्येक अभ्यर्थी कोरोना की जांच करके ही शामिल हो सकता है। इसके लिए अभ्यर्थी को भर्ती तिथि से तीन दिन पूर्व संबंधित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जाकर सैंपल देना होगा। 


सेना भर्ती कार्यालय पिथौरागढ़ के निदेशक भाष्कर तोमर ने सोमवार को डीएम से मुलाकात कर सेना भर्ती के आयोजन की तैयारी के संबंध में जानकारी देते हुए कोरोना जांच के लिए सहयोग की अपील की। अभ्यर्थियों के कोविड-19 सैंपलिंग के लिए जिले में तहसीलवार तिथि निर्धारित की गई। डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि 15 फरवरी को तहसील धारचूला, गणाई गंगोली तहसील के अभ्यर्थियों की भर्ती होनी है। इसके लिए 12 फरवरी को धारचूला तहसील के अभ्यर्थी सीएचसी धारचूला, गणाई गंगोली के अभ्यर्थी सीएचसी गंगोलीहाट में जाकर अपनी कोविड-19 जांच करवाएंगे।  


मुनस्यारी, थल, बेड़ीनाग तहसील के अभ्यर्थियों की भर्ती 16 फरवरी को होनी है। इसके लिए 13 फरवरी को मुनस्यारी के युवा सीएचसी मुनस्यारी में, थल, बेड़ीनाग के अभ्यर्थी सीएचसी बेड़ीनाग में जांच करवाएंगे। तहसील डीडीहाट, देवलथल, कनालीछीना के अभ्यर्थियों की भर्ती 17 फरवरी को होनी है। इसके लिए 14 फरवरी को तहसील डीडीहाट के अभ्यर्थी सीएचसी डीडीहाट में और तहसील कनालीछीना, देवलथल के अभ्यर्थी सीएचसी कनालीछीना में जाकर कोविड जांच करवाएंगे। 


गंगोलीहाट, बंगापानी तहसीलों के युवाओं की भर्ती 18 फरवरी को निर्धारित की गई है। गंगोलीहाट के अभ्यर्थी 15 फरवरी को सीएचसी गंगोलीहाट, बंगापानी के अभ्यर्थी सीएचसी मुनस्यारी में कोरोना जांच कराएंगे। पिथौरागढ़ तहसील के युवाओं की भर्ती 22 फरवरी को होनी है। यहां के युवाओं को 19 फरवरी को टीबी क्लीनिक पिथौरागढ़ में जाकर जांच करानी होगी। इसके लिए डीएम ने सीएमओ डॉ. एचसी पंत को नोडल अधिकारी नामित किया है। डीएम ने किसी कारण से जांच कराने से छूट जाने वाले युवाओं की जांच पिथौरागढ़ टीबी अस्पताल में कराने के निर्देश भी दिए हैं।

Source