टनकपुर हाईवे पर तेज धूप में भूखे-प्यासे बैठे यात्री,बोल्डर गिरने से हाईवे हुआ था जाम - PITHORAGARH NEWS

टनकपुर हाईवे पर तेज धूप में भूखे-प्यासे बैठे यात्री,बोल्डर गिरने से हाईवे हुआ था जाम - PITHORAGARH NEWS


PITHORAGARH NEWS: पिथौरागढ़-घाट-टनकपुर हाईवे पहाड़ी से भारी बोल्डर और मलबा गिरने से चुपकोट बैंड पर 9 घंटे से अधिक समय तक बंद रहा। इस बीच फंसे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बुधवार को तड़के करीब 5 बजे के चुपकोट बैंड पर पहाड़ी से एनएच पर भारी मलबा आ गिरा। जिससे सड़क पर एंबुलेंस समेत कई यात्री वाहन फंसे रहे। 


भारी मात्रा में मलबा आ जाने से एनएचएआई को इसे हटाने में मशक्कत झेलनी पड़ी। रातभर सफर कर यहां पहुंचे कई वाहनों में यात्रियों को बुधवार दोपहर 2 बजे तक सड़क खुलने का इंतजार करना पड़ा। लंबी दूरी के लिए यात्रा पर निकले लोगों को अधिक मुश्किल हुई। यह सड़क 17 दिनों में दूसरी बार बंद हुई है। करीब 9 घंटे बाद एनएच पर यातायात बहाल हो पाया। इससे पहले 24 मई को भी 18घंटे से अधिक समय तक हाइवे पर यातायात बंद रहा था। आए दिन एनएच के बंद रहने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


चुपकोट में हाइवे पर करीब 5 बजे मलबा आ जाने से आवाजाही ठप हो गई थी। दिन में दो बजे के करीब यातायात बहाल कर दिया गया है।

----   एलडी मथेला, अधिशासी अभियंता, एनएच, लोहाघाट

न पानी न भोजन, तेज धूप में भूखे-प्यासे बैठे रहे यात्री

PITHORAGARH NEWS:  पिथौरागढ़-घाट एनएच बंद होने से सैकड़ों यात्री भूखे-प्यासे तेज धूप में सड़क किनारे बैठकर हाइवे के खुलने का इंतजार करते रहे। यात्री हरीश बिष्ट, मोहन भंडारी ने कहा कि वे मंगलवार रात हल्द्वानी से यहां धारचूला जाने के लिए आए हैं, लेकिन सड़क बंद होने से वह रास्ते में फंस गए। कहा कि बिना पानी-भोजन तेज धूप में इंतजार करना मुश्किल हो गया। बांस के महेन्द्र ने बताया कि 9 घंटे तक इंतजार करने के बाद राहत की सांस ली।


एंबुलेंस और खाद्यान्न वाहन भी फंसे

PITHORAGARH NEWS:  एनएच के बंद हो जाने से शवदाह को जा रहे कई वाहन फंसे रहे। कई को सड़क नहीं खुलने के बाद पैदल ही रवाना होना पड़ा। कई एंबुलेंस भी इस दौरान फंसी रहीं। बाद में वे दूसरे मार्ग से रवाना हुईं। इधर, कई दिनों बंदी के बाद बुधवार को एक साथ बाजार खोला गया लेकिन एनएच के बंद रहने से ताजे फल-सब्जी लोगों को नहीं मिल पाए।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

Post a Comment (0)

और नया पुराने
उत्तराखंड की खबरों को ट्विटर पर पाने के लिए फॉलो करें

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें