पीएम नरेंद्र मोदी ने सीएम तीरथ सिंह रावत को दिया भरोसा, कहा-काेरोना की जंग में नहीं होगी संसाधन की कमी

पीएम नरेंद्र मोदी ने सीएम तीरथ सिंह रावत को दिया भरोसा, कहा-काेरोना की जंग में नहीं होगी संसाधन की कमी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच दिन बाद दूसरी बार मुख्यमंत्री तीरथ रावत से उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने राज्य में उपलब्ध संसाधनों व अन्य जरूरतों के बारे में जाना और हर मदद का आश्वासन दिया। 



रविवार दोपहर पीएम मोदी ने सीएम तीरथ रावत को फोन मिलाकर राज्य में कोरोना की स्थिति के बारे में पूछा। उन्होंने यह भी पूछा कि मैदान जिलों की अपेक्षा पर्वतीय क्षेत्रों में संक्रमण का फैलाव कैसा है। सीएम तीरथ ने उनके सामने राज्य की पूरी तस्वीर रखी और कहा कि कोविड कर्फ्यू के बावजूद संक्रमण बढ़ रहा है, हालांकि इस दौरान सरकार की तरफ से आईसीयू, वेंटीलेंटर और आक्सीजन बेड बढ़ाए गए हैं।



मुख्यमंत्री तीरथ ने पीएम मोदी से आक्सीजन प्लांट जल्द मंजूर करने के साथ ही, आक्सीजन सिलेंडर, 10 लीटर से ऊपर वाले आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराने का आग्रह किया। कहा कि आक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त होने से पर्वतीय क्षेत्रों में आक्सीजन के संकट को दूर कर लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद की जा सकती है। प्रधानमंत्री मोदी ने राज्य को पूरी मदद का भरोसा दिया है।



मंगेश को दी है समन्वय की जिम्मेदारी


उत्तराखंड काडर के आईएएस व पीएमओ में तैनात मंगेश घिल्डियाल को उत्तराखंड के साथ समन्वय की जिम्मेदारी दी है। आईएएस मंगेश राज्य में तीन जिलों में डीएम रह चुके हैं। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण को राज्य को जिन चीजों की जरूरत पड़ेगी, मंगेश समन्वय कर उपलब्ध कराएंगे। वे सचिव (स्वास्थ्य) अमित नेगी के साथ नियमित तौर पर समन्वय बना कर रखेंगे।



राजनाथ को लिखी चिट्ठी


सीएम तीरथ ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र भेजकर ऋषिकेश एम्स में डीआरडीओ की तरफ से बनने वाले आक्सीजन प्लांट में अलग से एक टैंकर बनाने का भी आग्रह किया है। कहा कि आक्सीजन का अतिरिक्त टैंकर उपलब्ध होने से एम्स में आक्सीजन बेडों की संख्या बढ़ाई जा सकती है।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के बारे में पूरी जानकारी ली। उन्होंने राज्य को हर मदद करने का भरोसा दिया है। प्रधानमंत्री का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं कि वे उत्तराखंड को लेकर बेहद संवेदनशील हैं और पांच दिन बाद दूसरी बार बात कर कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सुझाव देने के साथ ही हर स्थिति पर नजर भी रख रहे हैं।


तीरथ सिंह रावत मुख्यमंत्री



Post a Comment

Previous Post Next Post