Hot Widget

Type Here to Get Search Results !

किसान आंदोलन के चलते उत्तराखंड के चार जिलों में हाई अलर्ट, तराई के किसानों की आंदोलन में भागीदारी से चिंता

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक

 किसान आंदोलन ट्रेक्टर रेली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसक घटनाओं के बाद, उत्तराखंड के चार जिलों को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। इधर, पुलिस को इस बात की भी आशंका है कि यदि आंदोलन लंबा चला तो कुंभ मेले पर भी इसका असर पड़ सकता है। दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में यूएसनगर तराई क्षेत्र के किसानों की भी अच्छी खासी भागीदारी है। इसके साथ ही हरिद्वार, देहरादून, नैनीताल के जिलों के किसान भी आंदोलन को समर्थन दे रहे हैं। इस कारण दिल्ली की घटना के बाद पुलिस ने इन चार जिलों में पुलिस प्रमुखों को विशेष सतर्कता बरतने को कहा है। 

खासकर किसानों की दिल्ली वापसी के बाद हालात पर नजर बनाए रखने को कहा गया है। इधर, पुलिस को इस बात की भी आशंका है कि यदि आंदोलन लंबा चला तो हरिद्वार कुंभ मेला में कानून व्यवस्था के लिहाज से अतिरिक्त सुरक्षा प्रबंध करने पड़ सकते हैं। कारण आंदोलन प्रभावित क्षेत्र से बड़ी संख्या में श्रद्धालु स्नान के लिए हरिद्वार आते हैं। डीजीपी अशोक कुमार के मुताबिक उत्तराखंड में अभी स्थिति सामान्य बनी हुई हैं। आगे भी पुलिस हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।  

दिल्ली उपद्रव में पाकिस्तान के शामिल होने के सबूतः सीएम  त्रिवेंद्र सिंह रावत
देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में किसानों के आंदोलन की आड़ में हुए उपद्रव की कड़े शब्दों में निंदा की है। कहा कि इसमें पाकिस्तान के शामिल होने के भी सबूत सामने आए हैं। बुधवार को मीडिया से बातचीत में सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि इस आंदोलन में तमाम ऐसी शक्तियां भी घुसपैठ कर चुकी हैं जिन्होंने पूर्व में सीएए, जीएसटी का विरोध किया। जो एंटी लाबी व छोटे-छोटे धड़े वाले व लेफ्टिस लोग हैं। सब किसानों के आंदोलन में घुस आए हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने दिल्ली में हुए उपद्रव को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, कहा- ऐसा करने वाले नहीं हो सकते किसान

दिल्ली में उपद्रव वास्तव में बहुत बड़ा दुभाग्यपूर्ण है। अब ऐसा लगता है कि यह आंदोलन कांग्रेस का हो गया है। उन्होंने कहा कि देश का किसान कभी ऐसी हरकत नहीं कर सकते। किसान मिट्टी से जुड़ा होता है और उनकी देशभक्ति पर कोई अगुंली भी नहीं उठा सकते। अराजकत तत्व एजेंड़ा के तहत इस आंदोलन में घुसे और उन्होंने ने ही यह उपद्रव मचाया।
 

सभी को अलर्ट रहने के निर्देश
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मंगलवार शाम को पुलिस व गृह विभाग के अफसरों के साथ मीटिंग की और सभी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसानों के आंदोलन के बहाने अराजक शक्तियां उत्तराखंड में माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर सकती हैं। ऐसे तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाए।

Source


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

उत्तराखंड की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें